मास्क के अधिक प्रयोग से हो सकती है एलर्जी | 2021 में कैसे करें मास्क एलर्जी से बचाव

दोस्तों आप सभी जानते हैं कि कोरोना महामारी ने किस तरह ज़ुल्म ढाए और कैसे भारत के साथ-साथ पूरे विश्व पटल पर अफरा-तफ़री मचा दी थी। कोविड-19 का ज़िक्र कर लेना भी किसी आफ़त से कम नहीं था। उस दौर ने हम सभी के मानस पटल पर मानो एक दहशत भरी लकीरें उकेर दीं। सारे विश्व ने इस महामारी से बचने के लिए ख़ुद में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने का प्रयास किया जिससे काफी हद तक सफलता भी मिली।



इस प्रयास ने सम्पूर्ण जीवन शैली में एक आश्चर्यजनक बदलाव महसूस किया जो कि अब तक जारी है। इसी बदलाव में एक सावधानी भी हमारे साथ जुड़ गयी। जी हाँ! और वो है मास्क। जिसने हमारे दैनिक जीवन में अनिवार्य रूप से जगह ले ली। 

दोस्तों! महामारी ने हर एक के लिए मास्क को अनिवार्य कर दिया। इससे बचने के लिए फ़िलहाल मास्क पहनना अनिवार्य होने के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग ही एक सही उपाय बन कर रह गया। आज फ़िर से हमें लगता है कि मास्क और दूरी बनाए रखने में अपनी भागीदारी निभाने का समय आ गया है। ऐसी तमाम बातों का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है जो सेहतमंद बने रहने के लिए ज़रूरी हो।

हम बात कर रहे हैं मास्क की। एक ओर जहाँ मास्क के बाज़ार ने फ़ैशन के रूप में अपनी पहचान बना ली है। तरह-तरह के मास्क अब मार्केट में उतर चुके हैं। जहाँ अब किसी को मास्क पहनने से किसी प्रकार का गुरेज़ नहीं। लेकिन एक समस्या लगातार दिखाई दे रही है और वह समस्या है अधिक समय तक मास्क पहनने से होने वाली एलर्जी। जो कि अब अधिकतर लोगों के साथ एलर्जी की प्रॉब्लम देखी जा रही है।

हमारी जीवन शैली का विशेष अंग बने इस मास्क से त्वचा की समस्या (एलर्जी) तेज़ी से फ़ैलती जा रही है। त्वचा की यह समस्या 'मस्कने' तेज़ी से फ़ैलती जा रही है। मस्कने मुख्यतः 'एक्ने' का ही एक रूप है जो मास्क पहनने की वजह से हो रही है। यह समस्या मुख्यतः डॉक्टर, पैरा मेडिकल स्टॉफ अथवा पेशेवर लोगों में ज़्यादा देखी जा रही है। 

कई घंटों तक मास्क पहने रहने से उस स्थान की त्वचा पर गंदगी तथा तेलीय पदार्थ जम जाते हैं। जो कील मुंहासों को जन्म देते हैं। त्वचा विशेषज्ञों का तो यह मानना है कि कोरोना वायरस का कोई प्रभावी इलाज मिलने तक फेस मास्क पहनना अत्यंत आवश्यक है। लेकिन साथ में सतर्कता भी ज़रूरी है। हालांकि कोविड-19 टीकाकरण के माध्यम से प्रयास निरंतर चल रहे हैं। 


मास्क से होने वाली एलर्जी से बचने के लिए कुछ ज़रूरी सावधानियाँ (Some important precautions to avoid mask allergy in hindi)

नियमित रूप से सेनेटाइजर का उपयोग करें



(1) शाम को घर पहुँचकर जब भी अपना फेस मास्क उतारें तो अपने हाथों को साबुन या सेनेटाइजर से ज़रूर धोएं।

(2) मास्क को गुनगुने पानी से अच्छी तरह धो लें। वैसे कोशिश ये करें कि एक ही मास्क को बार-बार न पहनें।

(3) मास्क को उतारते समय मास्क के अगले भाग को छूने से हमेशा परहेज करें। क्योंकि मास्क के इस स्थान पर संक्रमण की संभावना सबसे अधिक होती है।

(4) इस महामारी के दौरान आप मेकअप से परहेज़ करें तो बेहतर होगा। यानि कि अगर आप मेकअप के प्रति अधिक संजीदा हैं तो सिर्फ़ आंखों से लगते भाग पर आसपास मेकअप कर सकती हैं। लेकिन ध्यान रहे मास्क से ढँके रहने वाले भाग पर मेकअप करने से बचें। वरना आपको त्वचा से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

(5) मास्क पहनने से पहले तथा उतारने के बाद चेहरे को साफ पानी से ज़रुर धोएं ताकि डेड सेल्स को हटाया जा सके। 

(6) यदि सावधानी बरतने के बावजूद भी इस तरह की समस्याएँ बढ़ रही हैं और घरेलू उपचार से समाधान संभव नहीं हो पा रहा है। तो डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें।


ऐसा क्या करें कि नियंत्रण रह सके?



विशेषज्ञों का मानना है कि फेस मास्क पहनने की अनिवार्यता को निभाते हुए त्वचा से जुड़ी समस्याओं को काफ़ी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। यह प्रयास करें कि फेस मास्क के प्रयोग में कॉटन से बने फेस मास्क को ही पहली प्राथमिकता दें। आजकल बाज़ार में नायलॉन, सिंथेटिक, पॉलिस्टर आदि से बने नई-नई डिज़ाइन के मास्क महंगी क़ीमत पर बेचे जा रहे हैं जो कि त्वचा संबंधी अनेक समस्याओं को जन्म देती है।

हो सके तो आप अपने पुराने सूट, दुपट्टे, साड़ी को काटकर घर में ही बेहतरीन तीन लेयर वाले मास्क बना सकते हैं जो आपको संक्रमण से निश्चित रूप से दूर रखेंगे। फेस मास्क ख़रीदते समय किसी कलर, स्टाइल, डिज़ाइन या फैशन के चक्कर में बिल्कुल न पड़ें। बल्कि इन्हें मात्र संक्रमण से बचने के उपायों के तौर पर ही इस्तेमाल करें।


मास्क से त्वचा को होने वाली एलर्जी से बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय (Some home remedies to avoid skin allergies with masks in hindi)



फेस मास्क से त्वचा को होने वाली परेशानियों से बचाने के लिए कुछ घरेलू उपाय निम्न हैं-

(1) चेहरे को हो सके तो मॉश्चराइज़र से कवर करके रखने का प्रयास करें क्योंकि इससे त्वचा तथा मास्क के बीच रगड़ या घर्षण को कम किया जा सकता है। इससे त्वचा की परेशानियाँ कम की जा सकती हैं।

(2) बादाम से सबसे बेहतरीन स्क्रब बनता है। बादाम को गर्म पानी में तब तक भिगोएं जब तक इसका बाहरी छिलका न हट जाए। इसके बाद बादाम को सुखाकर पीस लें तथा इस पाउडर को किसी एयरटाइट जार में सुरक्षित रख दें। हर सुबह 2 चम्मच पाउडर में दही या ठंडा दूध मिलाकर इस मिश्रण को त्वचा पर लगायें। तथा बाद में पानी से धो लें। इस करने से आपकी त्वचा स्मूद होगी।

(3) चावल के पाउडर में दही मिलाकर स्क्रब के तौर पर उपयोग करने से तेलीय त्वचा से राहत मिलती है। अगर थोड़ी सी हल्दी को दही में मिलाकर मिश्रण तैयार करें और उसे चेहरे पर लगाएं तो चेहरे की त्वचा सुंदर और कोमल होती है।

(4) एक चम्मच शहद में दो चम्मच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाकर लजभग आधा घंटा रखा जाए और फिर पानी से धो लिया जाए तो इससे रैशेज़ ख़त्म हो जाएंगे।

(5) खीरे के गूदे को दही में मिलाकर बनाये गए मिश्रण को हर रोज़ चेहरे पर लगभग 20 मिनट तक लगाकर रखें। फ़िर इसे पानी से धो लें। यह तेलीय त्वचा से राहत के लिए सबसे उपयुक्त नुस्ख़ा है।

(6) तेलीय त्वचा के लिए टमाटर की लुगदी में एक चम्मच शहद मिलाकर बनाये गए मिश्रण को लगभग 20 मिनट तक चेहरे की त्वचा पर लगाकर रखें। फ़िर पानी से धो लें। इससे त्वचा को न केवल राहत मिलेगी बल्कि आपकी त्वचा कोमल बनकर निखर उठेगी।

(7) खीरे और पपीते की लुगदी का मिश्रण करके उसमें एक चम्मच दही, एक चम्मच शहद, चार चम्मच जई का आटा तथा एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें। इस मिश्रण को सप्ताह में दो बार लगाने से त्वचा मुलायम बनकर निखरती है।

(8) दही में बेसन, नींबू का रस तथा थोड़ी सी हल्दी मिलाकर बने मिश्रण से अपने चेहरे पर सप्ताह में तीन बार मालिश करें। इससे आपके स्किन की गंदगी हटती है।

हम उम्मीद करते हैं कि मास्क के अधिक प्रयोग से त्वचा पर होने वाली परेशानियों से बचने के लिए आपने इन सावधानियों व घरेलू उपायों को ज़रूर ध्यान से पढ़ा होगा। हमारा यह लेख "2021 में कैसे करें मास्क एलर्जी से बचाव" आपको ज़रूर पसंद आया होगा। आशा है आप अपने दोस्तों से इस आवश्यक जानकारी को अवश्य साझा (share) करेंगे।

अन्य आर्टिकल्स भी अवश्य पढ़ें👇

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ