Network Marketing क्यों करना चाहिए? | Network Marketing in hindi

ऐसा क्या है Network Marketing System में ? 

दोस्तों आज इस लेख में हम एक ऐसे Business के बारे में बात करेंगे जो कि आज के ताज़ा समय में बड़ा ही चर्चित और दिलचस्प Business है। इस लेख के अंत तक बने रहिएगा। मुझे   यक़ीन है आपको नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम के विषय में उमड़ते अपने सवालों के जवाब ज़रूर मिल जाएंगे। और तब यक़ीनन आप सोच में पड़ जाएंगे। तो चलिए हम ये सफ़र शुरू करते हैं।


Importance of network marketing

दोस्तों अगर किसी से यह पूछा जाए कि नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? हो सकता है उसे इस मार्केटिंग की विस्तृत जानकारी ना हो। लेकिन यह तय है कि उसने नेटवर्क मार्केटिंग का नाम सुना तो ज़रूर होगा। आज के समय में यदि पूरे संसार में कोई business चर्चा में है तो वह है MLM यानी कि Network Marketing.

पूरे विश्व के साथ-साथ भारत में भी ढेरों कंपनियों ने नेटवर्क मार्केटिंग के मूल मंत्र को अपनाया है। कई कम्पनियों ने अपनी कंपनियों से सम्बंधित products को sell करने के लिए नेटवर्क मार्केटिंग प्लान को follow करते हुए नेटवर्क मार्केटिंग को ही अपनाया है। नेटवर्क मार्केटिंग क्यों करना चाहिए। इसे जानने से पहले हमें यह जानना ज़्यादा ज़रूरी है कि नेटवर्क मार्केटिंग आख़िर है क्या? तो चलिए हम जानते हैं कि Network Marketing या MLM क्या है?



नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? यह पुरानी (परंपरागत) मार्केटिंग से किस तरह भिन्न है? (How is Network marketing different from Traditional marketing in hindi)-

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? What is network marketing? "नेटवर्क मार्केटिंग दरअसल किसी भी सेवा अथवा कंपनी के उत्पाद (product) को सीधा उपभोक्ता तक पहुँचाने की एक युक्ति, एक उपाय है। और इस युक्ति में उपभोक्ता कंपनी से direct जुड़कर उस कंपनी के products को ख़रीदता है। जिसके तहत कंपनी उस उपभोक्ता को सीधे ही Benefits (लाभ) देने का प्रयास करती है।"
 
आइये इसे और सरल भाषा में समझने का प्रयास करते हैं। पहले से ही हमारे बीच परंपरागत मार्केट कार्य करता आ रहा है। आपने देखा होगा कि कंपनी अपने बनाये हुए किसी भी उत्पाद (product) को आम जनता तक पहुँचाने के लिए ढेर सारे बिचौलियों, दलालों (एजेंट), थोक विक्रेताओं (होल सेलर्स), रिटेलर्स आदि का सहारा लेती रही है। और तो और अपने प्रोडक्ट को जनता के बीच रातों रात प्रचलित करने के लिए विज्ञापन का सहारा लेती रही है। कंपनियाँ ये विज्ञापन ऐसे लोगों से कराती हैं जिनका आम जनता के बीच काफी नाम हो, आम जनता उनके रहन सहन को फॉलों करती हो। जैसे कि फ़िल्मी कलाकार, क्रिकेटर, फुटबॉलर, मॉडल, सिंगर, डांसर आदि।

और जब ऐसे सुपर स्टार किसी कंपनी के प्रोडक्ट्स का विज्ञापन करते हैं तब लोग इनकी वजह से प्रोडक्ट पर झट से भरोसा कर लेते हैं और वह product ख़रीदने लगते हैं। इन विज्ञापनों के लिए कंपनी इन सुपर स्टार्स को मुँहमाँगी फ़ीस (रक़म) अदा करती है। हालांकि इसके बाद इस प्रोडक्ट के बिकने या न बिकने पर उस सुपर स्टार की कोई ज़िम्मेदारी नहीं होती है। ऐसे में कभी-कभी ऐसे प्रोडक्ट के लिए भी कंपनी को विज्ञापन के लिये भारी रक़म चुकानी पड़ जाती है। और यदि वह प्रोडक्ट जनता में विश्वास नहीं बना पाया तब तो कंपनी को भारी नुकसान उठाना पड़ जाता है।

ठीक इसी तरह कंपनी के उत्पादों (products) में फ़ेरबदल की घटनाएँ भी सामने आती रहती हैं। जब कंपनी और जनता के बीच के ढेर सारे बिचौलिये कंपनी से अपने हिस्से का कमीशन लेने के बावजूद product में हेराफेरी करने लगते हैं या नकली product बनाने की फैक्ट्री खोल लेते हैं। जिस कारण आम जनता असली और नकली प्रोडक्ट की पहचान नहीं कर पाती और इस तरह कंपनी को जनता का भरोसा और आर्थिक नुकसान दोनों उठाना पड़ता है।

नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री (Network Marketing Industry) ने इसी समस्या को हल करने के लिए अपने उत्पादों को सीधे ही customers तक पहुँचाने की युक्ति बनाई है। 

सोचा गया कि यदि उत्पादित किये गए product को निर्माता से ग्राहक तक पहुँचाने वाले लोगों यानी कि डिस्ट्रीब्यूटर्स, होल सेलर्स, रिटेलर्स आदि को हटाकर सीधे-सीधे ग्राहक को product देने का प्रयास किया जाए। साथ ही विज्ञापन का अतिरिक्त और मँहगा ख़र्चा भी बचाया जाए। और product उपयोग करने, प्रचार-प्रसार करते हुए बेचने पर उनके हिस्से का कमीशन सीधे उन्हीं को दिया जाए।

इस तरह Original product अच्छे दामों के साथ customers तक पहुँच सकेगा। साथ ही सुपरस्टार्स के द्वारा झूठे विज्ञापनों को छोड़कर, स्वयं उपभोक्ता ही उपयोग करते हुए उन प्रोडक्ट्स के विज्ञापन का बीड़ा उठाते हुए अतिरिक्त आमदनी भी हासिल कर सकेगा। यही कारण है कि नेटवर्क मार्केटिंग में टीवी एड (टीवी पर विज्ञापन) नहीं दिखाये जाते।

साधारण तौर पर किसी भी कंपनी के पास अपने प्रोडक्ट्स जनता तक पहुँचाने के दो तरीक़े होते हैं-

(1) परंपरागत मार्केटिंग (Traditional Marketing)
(2) नेटवर्क मार्केटिंग Network Marketing (Direct selling)


(1) परंपरागत मार्केटिंग (Traditional Marketing in hindi)


Traditional marketing system

Traditional Marketing (परंपरागत मार्केट) को आप हम भली भांति जानते हैं। इसके अंतर्गत कंपनी अपना उत्पाद जनता तक पहुँचाने के लिए अनेक प्रकार के बिचौलियों की मदद लेती है जैसे कि डिस्ट्रीब्यूटर, होल सेलर, एजेंट, रिटेलर आदि। इसके अतिरिक्त प्रसिद्ध सुपर स्टार्स को बड़ी-बड़ी रक़म देकर विज्ञापन advertising भी कराती हैं। जिससे प्रभावित होकर customer उसी product को मार्किट से ख़रीदने लगता है।

जब इंटरनेट का ज़माना इतना व्यापक नहीं था तब कंपनियों के products की जानकारी उपभोक्ताओं को सही-सही नहीं मिल पाती थी। ऐसी स्थिति में बिचौलियों, होल सेलर्स, एजेंटों के द्वारा उपभोक्ताओं से मनचाही क़ीमत वसूली जाती थी।

परंपरागत मार्केट में कंपनियों या फ़ैक्टरियों से माल ट्रांसपोर्ट के माध्यम से होकर, होलसेलर्स, एजेंटों, रिटेलर्स से होते हुए ग्राहकों तक पहुंचता है। जिस कारण बीच के बिचौलियों का कमीशन भी ग्राहकों से वसूलने का प्रयास किया जाता है। इसके अतिरिक्त प्रोडक्ट के विज्ञापन पर किये गए ख़र्चों का भार भी उपभोक्ताओं पर पड़ता है।



(2) नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing in hindi (direct selling)-


Network marketing system

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी अपने उत्पाद सीधे उपभोक्ता (customer) तक पहुँचाती है। इस मार्केटिंग में customer की Distributor होते हैं। customer ही प्रोडक्ट और सर्विसेज को प्रमोट करते हैं।उपयोग करते हैं।और साथ ही आम जनता में विज्ञापन करते हैं। इसके बदले कंपनी अपने benefits (लाभ) का एक बड़ा हिस्सा अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को प्रदान करती है। जिससे उस कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर्स को अतिरिक्त कमाई का मौक़ा मिलता है।

नेटवर्क मार्केटिंग में अकेले business नहीं करना होता बल्कि टीम के सदस्यों के सहयोग से आगे बढ़ते रहने का मौक़ा मिलता है। यह business परंपरागत business में खींचातानी के बिल्कुल विपरीत होता है। 

यह आपस में अच्छी रिलेशनशिप का business है जो कि आपसी सहयोग के बलबूते अच्छा बड़ा business खड़ा करने में आपकी सहायता करता है। इसमे ज़्यादा पूँजी की आवश्यकता भी नहीं होती। कुछ पूँजी लगाकर, अच्छी तरह मेहनत करके किसी भी ऑनलाइन नेटवर्क मार्केटिंग में अपना वर्चस्व स्थापित किया जा सकता है। दोस्तों यूँ समझिये कि चहलपहल के इस लेख के माध्यम से आज हम आपको नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस आइडियाज़ दे रहे हैं। 

दोस्तों आपने अब नेटवर्क मार्केटिंग और परंपरागत मार्केटिंग में अंतर (Difference between Network marketing and Traditional marketing in hindi) को भलीभांति समझ लिया होगा। नेटवर्क मार्केट और ट्रेडिशनल मार्केट में यही ख़ास फर्क होता है। जिसे अगर अपने समझ लिया तो समझो Business करने के सारे तौर तरीकों को जान लिया। ऑनलाइन नेटवर्क मार्केटिंग (Online network marketing) ने तो मानो नेटवर्किंग की दुनिया में नई जान डाल दी है। आप घर बैठे ही नेटवर्क मार्केटिंग करते हुए पैसा कमा सकते हैं।


नेटवर्क मार्केटिंग का इतिहास (History of Network marketing in hindi)-

नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत 1930 में अमरीका के महान रसायन शास्त्री कार्ल रेनबॉर्ग (Carl Rehnborg) ने की। उन्होंने भोजन में आहार के रूप में पूरक तत्व supplement के बारे में बताया कि इससे स्वास्थ्य में ज़बरदस्त फ़ायदा होता है। इस supplement को लोगों के बीच पहुँचाने के लिए उन्होंने supplement पर आधारित "केलिफोर्निया विटामिन कंपनी" नाम की पहली नेटवर्क मार्केटिंग Network marketing कंपनी की शुरुआत की। इस तरह वहां से प्रथम नेटवर्क मार्केट का आरंभ हुआ। जब यह नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी अच्छी तरह चलने लगी तब इस कंपनी का नाम 1939 में बदलकर न्यूट्रालाईट (Nutralite) रख दिया गया।


नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम (Network marketing system in hindi)

MLM मल्टी लेवल मार्केटिंग, नेटवर्क मार्केटिंग का एक नायाब तरीका है। क्योंकि इसके अंतर्गत कस्टमर को न केवल व्यक्तिगत रूप से product ख़रीदना होता है बल्कि उसके लिए बेचने का भी मौक़ा होता हैं जिस वजह से वह अतिरिक्त आमदनी लेकर अपने जीवन में विभिन्न बदलाव लाने में सक्षम होता है। इस तरह नेटवर्क मार्केटिंग के माध्यम से ढेरों कंपनियां डायरेक्ट सेलिं करने वाली कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रही हैं। जिसमें कि कंपनी के साथ साथ इससे जुडे प्रतिनिधियो, डिस्ट्रीब्यूटर्स को भी आगे बढ़ने का मौक़ा मिलता है।

सरल शब्दों में यह कह सकते हैं कि मल्टी लेवल मार्केटिंग से जुड़कर लोग ख़ुद ही सेल्समेन, डिस्ट्रीब्यूटर, स्वतंत्र व्यापारी, फ्रेंचाइजी, प्रतिनिधी, सलाहकार, एजेंट आदि के रूप में काम करते है। जिनके माध्यम से कंपनी अपने products को सीधे जनता तक पहुँचाने का कार्य आसानी से करती है। नेटवर्क मार्केटिंग/डायरेक्ट सेलिंग बिक्री व विज्ञापन करते हुए वितरण करने का एक बेहतरीन ज़रिया है। जो कि दूसरे परंपरागत मार्केट की तुलना में बिल्कुल अलग है। दोस्तों! यही है नेटवर्क मार्केटिंग का अर्थ। 



नेटवर्क मार्केटिंग के फ़ायदे (Benefits of network marketing in hindi)



नेटवर्किंग मार्केट में अनेक ऐसे फ़ायदे दिखाई पड़ते हैं जिस कारण इस तरह के business से जुड़कर कोई भी व्यक्ति इस क्षेत्र में अच्छी मेहनत और अपनी टीम के सदस्यों के सहयोग से अच्छा ख़ासा Network Marketing Success हासिल कर सकता है। आइये इनके कुछ फ़ायदों पर नज़र डालते हैं-

(1) आपसी रिलेशनशिप बेहतर होना-
इस business में आपसी relationships अच्छी होती है। यह एक ऐसा business है आपसी सहयोग से शुुुुरू होकर क़ामयाबी के नए नए आयाम पाने का माद्दा रखता है। ज़ीरो से शुरू होकर, ऊंचाइयों पर पहुँचने के बाद भी आपसी सहयोग से ही business चलता है। इसी कारण इस business में आपसी वैमनस्यता न होकर रिलेशनशिप में बढ़ोत्तरी होती रहती है। टीम के अनुभवशील सदस्यों के द्वारा हमेशा ही Network Marketing Motivation मिलता रहता है।

(2) समय प्रबंधन (Time management)-
हमारे जीवन की सबसे क़ीमती चीज़ अगर कोई है तो वह केवल समय है। और नेटवर्क मार्केटिंग में यही सिखाया जाता है कि कैसे अपने दिनचर्या से समय निकालकर, उस समय का सदुपयोग किया जाए। वैसे भी बेकार की चीजों जैसे- टीवी, मोबाइल फोन, गप-सप और सोशल मीडिया पर अनावश्यक टिप्पणियों में अधिकांश लोगों का दिन बर्बाद हो जाया करता है। 

यह नेटवर्क मार्केटिंग स्किल (Network marketing skill) ही है। जो कि यहाँ आने के बाद उनकी आदतें बदलती हैं और जीवन में सदैव सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है।

डॉ. एपीजे अब्दुल क़लाम साहब ने कहा भी है कि- "हम अपने भविष्य को बदलें न बदलें मगर अपनी आदतों को ज़रूर बदल सकते हैं। एक दिन यही बदली हुई आदतें हमारा भविष्य बदल सकती हैं।"


(3) सकारात्मक सोच में वृद्धि (Positive thinking) -
पुरानी मार्केटिंग शैली में तनाव, डर और नकारात्मकता बहुत जल्दी आ जाती है। लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग का प्रभाव ही ऐसा होता है कि इसमें आकर लोग सकारात्मक और सहयोग की भावना से ओत प्रोत जीवन जीना सीख जाते हैं। आपसी सहयोग की भावना ही ऐसी होती है कि इससे जुड़े लोगों का दुनिया को देखने का नज़रिया ही बदल जाता है।

(4) अतिरिक्त आय (Extra income)-
अतिरिक्त आय का स्रोत इस तरह के किसी बिज़नेस को join कर लेने से मिल जाता है। यदि अच्छी मेहनत और लगन के साथ कंपनी के साथ चलें तो Unlimited income ली जा सकती है।

(5) आय का बढ़ते क्रम में होना-
सरकारी/प्राइवेट नौकरी में रिटायरमेंट के बाद सेलरी का आधा हो जाना सामान्य सी बात है। इसके विपरीत यदि आपने किसी विश्वसनीय कंपनी के साथ खड़े रहकर नेटवर्क मार्केटिंग में कुछ साल जमकर मेहनत कर लिया तो समझो एक स्थायी income का स्रोत मिल सकता है। वह भी बढ़ते क्रम में।

(6) एक समय के बाद काम कम और income ज़्यादा-
इस तरह के business में यही एक ख़ासियत होती है कि, जब आपकी टीम काफी बड़ी हो जाती है और उस टीम में ढेर सारे Active Leader बन जाते हैं। तब आपका काम बहुत कम हो जाता है। बल्कि income लगातार बढ़-बढ़कर आने लगती है। जबकि सरकारी/प्राइवेट नौकरी में ऐसा नहीं होता। बल्कि इसमें आपकी सैलरी और बाकी सुविधायें कम कर दी जाती हैं।

(7) व्यक्तित्व का विकास (Personality development)-
नेटवर्क मार्केटिंग में जुड़ने का एक अच्छा फ़ायदा यह है कि यहाँ आकर लोगों को अनुभवशील सदस्यों द्वारा (uplines के द्वारा) नेटवर्क मार्केटिंग कोर्स, बुक्स और उपयुक्त गाइडलाइंस दी जाती हैं। जैसे कि नेटवर्क मार्केटिंग प्लान कैसे बताएं? नये लोगों से किस तरह मिलें? अपने से छोटों को कैसे motivate करें, आपसी सहयोग की भावना कैसे जाग्रत करें आदि। 

(8) आत्मविश्वास में वृद्धि-
आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी होना इस business के सबसे महत्वपूर्ण फ़ायदों में से एक है। आपकी आय में बढ़ोत्तरी के साथ-साथ आप दूसरों के लिए मोटिवेटर का काम करते हैं। आपकी वजह से दूसरों का जीवन बनता है। लोग सकारात्मकता के साथ हमेशा ही अपने सदस्यों के बीच जाकर उनका उत्साह वर्धन करते हैं। फलस्वरूप उनके बीच आप सम्माननीय बनते हैं। और यही आत्मविश्वास जीवन में अन्य कठिनायों के वक़्त आपको काम आता है।

(9) सम्पूर्ण जीवन के लिए प्रशिक्षण मिलना-
इस तरह यहां नेटवर्क मार्केटिंग के साथ साथ जीवन में सफलता के सूत्र  सिखाये जाते हैं। ये बातें जीवन के लिए अत्यंत ही महत्वपूर्ण होती हैं। जीवन के हर मोड़ पर मज़बूती से डटे रहने के लिए वह सब कुछ सीखने मिलता है, जो बाहर या किसी कॉलेज में नहीं सिखाया जाता। 

(10) दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनने का अवसर-
नेटवर्क मार्केटिंग से एक अच्छी बात सीखने मिलती है कि यहाँ आकर आप लीडरशिप करना सीख जाते हैं। आप यहाँ दूसरों की मदद करना सीखते हैं। अपनी टीम को motivational speech देना सीख जाते हैं। आप दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनकर उभरते हैं। जो कि आज के तनावपूर्ण जीवन में बहुत कम होता है। मंच पर आकर दूसरों को Motivate करना आपके और आपकी टीम के लिए किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं होती। 

(11) बातचीत की कला (communication skills)-
नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ने के बाद आप किसी भी व्यक्ति के सामने अपनी बातों को प्रभावपूर्ण तरीके से कहना सीख जाते हैं। नये या पुराने लोगों के बीच बैठकर आप अपने network system का प्लान बेझिझक बताना सीख जाते हैं। इसी बहाने आप अपने जीवन में अनेक प्रकार के मुद्दों को प्रभावशील तरीके से दूसरों के सामने रखना सीख जाते हैं।

(12) लोक व्यवहार (People Skill)-
नेटवर्क मार्केटिंग में ऐसी कई अच्छी आदतें, इस दौरान सीखने मिलती हैं उनमें से एक है व्यवहारिकता। जो आपको आपके पूरे जीवन में काम आती है। क्योंकि नेटवर्क मार्केटिंग में आप लोगों के साथ काम करते हैं, जिससे सबसे बड़ा फ़ायदा यह होता है कि आप एक व्यवहारिक व्यक्ति के रूप में उभरकर सामने आते हैं। लोग आपसे मिलकर आपसे बातें करना चाहते हैं, व्यक्तिगत रूप से भी आप लोगों के दिलों में बसने लगते हैं।

(13) निष्क्रिय आय का आना (Passive income)-
सामान्यत: समाज में आय एक ही प्रकार से आती है। वह यह कि यदि आप काम करते रहेंगे तब तक आपको आय मिलती रहेगी। जिस दिन आप ने काम करना बंद कर दिया समझो आय का स्रोत भी बंद। मतलब ऐसी आय को सक्रिय आय (Active income) कहते हैं।

Network marketing systems नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम  में दूसरे प्रकार की आय प्राप्त होती है। जिसे निष्क्रिय आय (passive income) यानि कि आप काम बंद कर देंगे तब भी आपको आय मिलती रहेगी। बल्कि बढ़ते क्रम में आती रहेगी। नेटवर्क मार्केटिंग में एक बार टीम बन जाने पर यही Passive income आनी शुरू हो जाती है, चाहे आप काम करें या ना करें। 

आपके इस दुनिया में नहीं होने पर भी आपका Business चलता रहता है। आपके नहीं होने पर भी आपकी टीम काम करती है, आपके लिए। वास्तव में टीम अपने लिए काम करती है, लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से प(Indirectly) आपके लिए भी काम होता रहता है।

(14) दूसरों की मदद करना (Help to Other)- जब कोई नया व्यक्ति इस मार्केट में आता है, तो पूरी टीम आगे बढ़कर उसकी मदद करती है। जबकि परंपरागत business में तो एक businessman दूसरे businessman की टांग खींचने में लगा होता है। नेटवर्क मार्केटिंग में लोग एक दूसरे की सफ़लता केे लिए काम करते हैं।

(15) आर्थिक आज़ादी मिलती है (Financial Freedom)-
इस बिजनेस के ज़रिए आप 3 से 4 सालों में ही अच्छी मेहनत और लगन से काम करते हुए आर्थिक स्वतंत्रता प्राप्त कर सकते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम का जादू ही ऐसा होता है कि आप जितना चाहें उतना पैसा कमा सकते हैं। 


(16) समय की आज़ादी मिलती है (Time Freedom)-
MLM एक ऐसा System होता है, जो हमें समय की आज़ादी देता है। साथ ही इस तरह की मार्केटिंग में आप स्वतंत्र रूप से कहीं भी घूमने जा सकते हैं क्योंकि आपका कोई निश्चित ऑफ़िस नही होता है जहाँ लगातार जाना पड़े। आप जब भी टाईम मिले तभी work कर सकते हो। और तो और आप काम नहीं करते तब भी आपकी कमाई जारी रहती है

(17) आपका मान-सम्मान बढ़ता है-
नेटवर्क मार्केटिंग में मान सम्मान की बात करें तो यह आपको बड़े-बड़े नेताओं और अभिनेताओं की तरह मिलता है। यदि आप इस सिस्टम में सफ़ल हो गए तो लोग आपको सर आंखों पर बिठा लेते हैं। आपका स्वागत करते हैं। ढेर सारे लोग आपसे मिलने, आपके साथ फ़ोटो लेने तथा ऑटोग्राफ आदि लेने के लिए लाइन में लगे रहते हैं। आपसे मिलकर तथा आपकी speech को सुनकर आपसे लोग प्रेरणा लेते हैं और आपका अनुसरण करते हैं

आपको Motivator के रूप में बुलाकर नेटवर्क मार्केटिंग एजुकेशन और Motivational Programs के आयोजन किये जाते हैं। जहाँ आपको सुनने, देखने के लिए लोग टिकिट ख़रीदकर आते हैं।

(18) अच्छे लोगों से दोस्ती होती है-
चुकि नेटवर्क मार्केटिंग आज के ज़माने का नया business है। इसलिए आपका हर रोज़ नये-नये लोगों से मिलना जुलना होता है। ख़ास बात यह है कि इस business में आप ऐसे लोगों से मिलते हैं जो जिंदगी में, सकारात्मक सोच के साथ नई ऊंचाइयां छूना चाहते हैं और एक दूसरे को प्रेरित करना भी जानते हैं। इनसे मिलकर लगता है कि "ज़िन्दगी में कुछ भी असंभव नहीं"

(19) प्रस्तुति की कला (Presentation skill)- 
नेटवर्क मार्केटिंग में लोग अपनी बातों और अपने प्लान को बेहतर तरीके से प्रेजेंट करना सीख जाते हैं। जिसमें आप बोर्ड प्रेजेंटेशन, लैपटॉप प्रेजेंटेशन, पेपर प्रेजेंटेशन आदि का बेहतरीन प्रयोग सीख जाते हैं। आपकी ये कला आपको भीड़ से अलग एक ख़ास शख़्सियत के रूप में उभारकर सबके सामने लाकर खड़ा कर देती है।



नेटवर्क मार्केटिंग में किस तरह कार्य करें (How to work in network marketing in hindi)-


नेटवर्क मार्केटिंग/डायरेक्ट सेलिंग, उभरते हुए भारत का एक उभरता हुआ एक जादुई business है। इसीलिए इसे नेटवर्क मार्केटिंग के साथ साथ मल्टी लेवल मार्केटिंग (MLM) भी कहा जाता है। चूँकि इस business में लोग आने से कतराते हैं। क्योंकि इसमें आने के बाद उनके लिए यही एक बड़ी चुनौती होती है कि नेटवर्क मार्केटिंग में कैसे सफल हो? ऐसा अक्सर जानकारी के अभाव की वजह से होता है। इसलिए आप यदि यह business कर रहे हैं और निम्न बातों का ध्यान रख लिया तो समझो आपका यह प्रश्न ही ख़त्म हो जायेगा कि नेटवर्क मार्केटिंग में सक्सेस कैसे हो? तो आइये जानते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए क्या करें -

(1) कंपनी के सिद्धांत को अच्छी तरह समझें-
लोग शुरुआत में आपके साथ आने से घबराते हैं। इसीलिये पहले आप अपनी कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में पूरी जानकारी रखें, कंपनी से संबंधित सारी जानकारियां इकट्ठा करने के बाद ही नये लोगों से मिलें ताकि उनके मन का डर आप आसानी से दूर कर सकें। कंपनी से संबंधित छोटी-छोटी जानकारियाँ रखने का प्रयास करें।

(2) प्रोडक्ट की बिक्री पर विशेष ध्यान दें- 
आप अपनी कंपनी के products की सम्पूर्ण जानकारी के साथ-साथ उनकी बिक्री पर ध्यान दें। ताकि लोग उसकी क़्वालिटी समझ सकें। पहले इस्तेमाल करें फिर विश्वास करें। क्योंकि जब आप इस्तेमाल करके दूसरों से अपना अनुभव साझा करेंगे तभी लोग आप पर विश्वास करेंगे।

(3) नये नये प्रतिनिधि तैयार करें-
चूंकि यह business उत्पादों की ख़रीदी-बिक्री पर ही आधारित होता है। और कंपनी के products की बिक्री जितनी ज्यादा होगी उतनी ही ज़्यादा income आपकी होगी। इसीलिए प्रयास करें कि अपने समूह में अच्छे 'प्लान शोवर' एवं products की खरीदी करने और बेचने वाले तैयार हो सकें। ताकि एक दूसरे के सहयोग से आपके समूह में टर्नओवर अधिक से अधिक हो सके।

(4) तैयार करें एक शानदार नेटवर्क
आप अगर चाहते हैं कि भविष्य में आप काम न करें तब भी आमदनी बढ़ते क्रम में आती रहे। तब ऐसा करने के लिए आपको कुछ सालों तक पूरी शिद्दत के साथ मेहनत करते हुए अपनी टीम यानी कि Downline में, ऊर्जावान, सकारात्मक सोच, आगे बढ़ने का जुनून, बड़े सपने और उन सपनों के लिए लगन से काम करने की लगन रखने वाले कुछ लीडर्स तैयार करने होंगे।


जब आपकी टीम में ढेर सारे Active लीडर्स नए-नए आयाम को छूना प्रारम्भ करेंगे तब 100% उनको बड़ी income मिलने लगेगी। आपको भी कुछ आधारभूत शर्तों का पालन करना होगा।परिणामस्वरूप आपको भी लगातार आमदनी मिलने लगेगी फ़िर चाहे आप काम करें अथवा ना करें। यही ऑनलाइन नेटवर्क मार्केटिंग का कमाल होता है।

(5) इंटरव्यू से करें प्लान शोवर का सलेक्शन- 
नेटवर्क मार्केटिंग में स्वयं को व अपनी टीम से जुड़े सभी सदस्यों को आगे बढ़ाने के लिए आप एक महत्वपूर्ण कार्य कर सकते हैं। और वह ये कि पहले अपनी टीम के कुछ ऊर्जावान लोगो का इंटरव्यू लें फ़िर उनकी क़ाबिलियत के हिसाब से उनको प्लान शो करने का काम सौपें। उन्हें नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दें। साथ ही समय-समय पर उनका मनोबल बढ़ाते रहें।

(6) टीम के साथ मिलकर करें काम-
नेटवर्क मार्केटिंग में आगे बढ़ते रहने के लिए सबसे ज़्यादा जरूरी है, टीम के सदस्यों के साथ मिलकर काम करना। इसके लिए जरूरी है आप सर्वप्रथम एक उत्साहित टीम का गठन करें। यह ध्यान रहे कि आपकी टीम के सदस्य आपके साथ कदम से कदम मिलाकर काम करने के लिए उत्साहित होने के साथ-साथ समर्पित भी हों। साथ ही रास्ते में पड़ने वाली हर कठिनाइयों का मुकाबला करने का साहस हो। कोई भी कठिनाइयाँ हों, आपस में मिलजुलकर आगे बढ़ने का अगर  जज़्बा हो, तो आपको और आपकी टीम को इस नेटवर्क मार्केटिंग में सफ़लता के नए शिखर पर पहुँचने से कोई नहीं रोक सकता।

(7) अपनी टीम के लोगों को products की ख़रीदी व बिक्री के लिए प्रोत्साहित करें- 
इस तरह का व्यापार स्वतंत्र वितरकों एवं Active Customers पर ही निर्भर होता है। चूंकि इसे Director selling बिज़नेस भी कहा गया है। इसीलिए अपना समूह बनाकर, सदस्यों को product ख़रीदी और उनको खुदरा बिक्री करने के लिए भी प्रोत्साहित करते रहें।



क्या किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ना आसान है? (Is it easy to connect to any network Marketing in hindi)-

जी हाँ! कोई भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़ने के लिए कोई विशेष शर्तें नहीं होतीं। आपमें सिर्फ़ कुछ पाने का जज़्बा चाहिए होता है। आइयें देखें कि किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़ना और जुड़कर काम करना क्यों आसान होता है-

(1) जोख़िम मुक्त व्यापार का होना-
इस तरह के business में कोई बड़ा रिस्क कतई नहीं होता। इसका कारण यह है कि इस तरह की किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग में आपको बड़ी रक़म यानि कि लाखों-करोड़ों की राशि नहीं लगानी होती। इसीलिए इसमें किसी प्रकार की हानि का डर नहीं होता। बल्कि बहुत कम पैसे से शुरू होकर लाखों-करोड़ों कमाए जा सकते हैं।

(2) कोई समय सीमा का न होना-
इस तरह के business में आना इसीलिए आसान होता है क्योंकि इसमें आपके लिए कोई समय सीमा नहीं होती। आप इसे किसी भी टाईम कर सकते हैं। मसलन अपना business plan किसी को सिखाने के लिए, आप कोई भी समय यानि कि अपने अनुसार तय कर सकते हैं।


(3) कोई ऑफिस नहीं (असीमित क्षेत्र)
इस तरह के नेटवर्क मार्केटिंग को आप किसी भी क्षेत्र, स्थान पर कर सकते हैं। इसके लिए आपको कोई ऑफिस या दुकान खोलने की आवश्यकता नहीं होती। जबकि किसी अन्य business में ऐसा नहीं होता। नेटवर्क मार्केटिंग में आप ख़ुद चलती-फ़िरती दुकान होते हैं। यूँ कहिये कि जहाँ जहाँ आप जाएँगे आपका business भी वहाँ जाएगा।

(4) उच्च शिक्षा का होना ज़रूरी नहीं-
इस तरह के business से जुड़ने के लिए किसी उच्च शिक्षा की आवश्यकता नहीं होती। आप के अंदर बड़े सपनों के साथ उन्हें पूरा करने के लिए मेहनत करने का जज़्बा होना चाहिए। क्योंकि इतिहास गवाह है। दुनिया में भी बड़े-बड़े उद्योगपति, करोड़पति, अरबपति बने हैं उन्होंने कोई उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं की थी। बस उनमें और उच्च शिक्षा प्राप्त करने वालों में यही एक अंतर था कि उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले लोगों का सपना किसी के अधीन रहकर कोई भी नौकरी करने का था। मगर दूसरी तरफ़, इनका सपना ख़ुद मालिक बनकर पढ़े लिखे बेरोज़गार लोगों को नौकरी देने और देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने का था।

(5) उम्र का कोई बंधन नहीं
इस तरह के किसी भी business में आपके लिए उम्र का कोई बंधन नहीं होता। फ़िर चाहे आप 20 के हों, 30 के हों या 65 वर्ष के ही क्यों न हों। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि इस तरह के business में आपको आपकी team का भरपूर सहयोग मिलता है। क्योंकि जितनी ऊर्जावान, मेहनती, क्षमतावान आपकी टीम होगी उतना ही आपको आराम मिलेगा। और income भी मिलती रहेगी।


भारत में नेटवर्क मार्केटिंग का भविष्य (Future of network marketing in India in hindi)-

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत 1995 में हुई। तब से तो ये आलम है कि पूरे भारत में नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों की झड़ी सी लग गयी है। इन्हीं नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के भारत में बेतहाशा चलने के कारण भारत सरकार ने भारत मे पल-बढ़ रही कंपनियों के लिये 12 सितंबर 




2016 को स्पेशल गाइडलाइंस जारी कर दी। नेटवर्क मार्केटिंग के लिए गाइडलाइंस जारी होने के बाद से भारत में ऐसी कंपनियों की बाढ़ सी आ गयी है। भारत में नेटवर्क मार्केटिंग का भविष्य क्या है? इसके जवाब में यही कहा जा रहा हैैै कि इन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों का प्रचार-प्रसार और भी तेज़ी से होने की संभावना है। भारत सरकार की संस्था FICCI और KPMG के रिपोर्ट के अनुसार 2025 तक नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री का कारोबार लगभग 625 बिलियन (62500 करोड़) तक हो सकता है। अर्थात भारत में Direct selling का भविष्य आने वाले कुछ वर्षों में सुनहरा दिखाई दे रहा है।

नेटवर्क मार्केटिंग यानि कि डायरेक्ट सेलिंग के संदर्भ में वैज्ञानिक एवं पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए पी जे अब्दुलक़लाम ने भी कहा है कि- "नेटवर्क मार्केटिंग 21 वीं सदी का सबसे बढ़ता हुआ कारोबार है। जिसमे हर युवा को वैश्विक रूप से शामिल होना चाहिए अन्यथा वे कभी भी अपनी युवा आयु का सर्वश्रेष्ठ हासिल नहीं कर सकेंगे। "


नेटवर्क मार्केटिंग, कितना सच कितना झूठ (Network marketing is so true, how much lies in hindi)-

सचनेटवर्क मार्केटिंग या MLM एक सोचा समझा बिज़नेस प्लान या माध्यम होता है जिसकी मदद से सभी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनीयाँ अपने उत्पादों (Products) को बेचते हैं। अगर हम देखें तो नेटवर्क मानेटवर्क मार्केटिंग में व्यक्ति सीधे कंपनी से जुड़ कर सामान (उत्पाद) को उपभोक्ता तक पहुँचाते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग के व्यापार में इतनी शक्ति है की इसके माध्यम से हजारों-लाखों लोग जल्द से जल्द करोड़पति बन सकते हैं।


झूठ नेटवर्क मार्केटिंग एक बहुत ही अच्छी इंडस्ट्री (industry) है। परंतु दुनिया में कुछ झूठे और धोखेबाज़ नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के कारण नेटवर्क मार्केटिंग का नाम बदनाम हो गया है। कुछ MLM कंपनियां बड़े-बड़े झूठे सपने दिखाकर, लोगों से पैसे लेकर ग़ायब हो जाती हैं जिसके कारण देश में चल रही दूसरी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों का नाम बदनाम हो जाता है।

कई कंपनियां आती हैं और अपने बाइनरी प्लान (चैन सिस्टम प्लान) लोगों को दिखा कर उन्हें लुभाती हैं और रातों-रात उनके पैसे लेकर भाग जाती हैं। और जब इस तरह उनका झूठ सामने आता है तब लोगों में ऐसी कंपनियों के प्रति नकारात्मक सोच पैदा हो जाती है।



नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का चयन करते समय क्या सावधानी बरतें? (What to take care of when choosing a Network Marketing Company in hindi)

किसी भी Network Business को अपनाने से पहले एक अच्छे नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का चयन कैसे करें? तो दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि एक अच्छे नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़ने से पहले आपको कुछ मुख्य और महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए जो कि निम्न हैं-

(1) कंपनी का सिद्धांत सही होना चाहिए-
किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री से जुड़ने के पहले आपको भली भाँति यह जानने का प्रयास करना चाहिए कि उस कम्पनी का सिद्धांत क्या और कैसे काम करता है? कंपनी वाक़ई अपने मेम्बर्स को वो सुविधा दे रही है जिसका ज़िक्र प्लान शो करते समय बताया गया है।

(2) कंपनी के हेड ऑफिस एवं ब्रांच की खबर रखें-
किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़ते समय उस कंपनी के मालिक, उस कंपनी की reputation चेक करें। वह कंपनी कहीं फ़र्ज़ी तो नहीं है इसीलिए उसका हेडऑफिस और उसकी ब्रांच के विषय में पूरी-पूरी information पता करें।

(3) इन्वेस्टमेंट सही है या नहीं यह जाँच लें
किसी भी MLM कंपनी में अपना पैसा लगाने से पहले यह जांच अवश्य कर लें कि जिस व्यक्ति के कहने पर आपने भरोसा किया है वह सच में उस कंपनी में कार्य करता भी है या नहीं। कहीं वह फ्रॉड तो नहीं। जिस product पर आप invest कर रहे हैं उस product की जानकारी अवश्य लें।

(4) झूठे सपनों के लालच में न आएं-
आपको इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए कि क्या सच में उस नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के उत्पादों से लोगों को फ़ायदा मिलेगा। ऐसी कंपनी जिसका कोई बेहतर प्रोडक्ट ना हो और बिना किसी सिद्धांत के अगर वह कंपनी मात्र लोगों को जोड़ने और करोड़पति बनने के सपने दिखा रही हो तो ऐसी कंपनी से सावधान रहें क्योंकि ऐसी कंपनियां
ज़्यादा दिन नहीं चलती हैं। ये कंपनियां Direct selling के नाम पर लोगों से धोखा (fraud) करती हैं।

(5) कंपनी से जुड़े लोग कैसे हैं जान लें-
ऐसी कई अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां है जिनमें बहुत अच्छे लोग होते हैं। अच्छे लोगों से तात्पर्य है सकारात्मक सोच रखने वाले लोग। क्योंकि ऐसी सोच रखने वाले लोगों से जुड़ने वाले लोगों के मन में भी एक सकारात्मक सोच जागृत होती है। और यह तो तय है कि किसी भी कार्य में सफ़लता पाने के लिये सकारात्मक सोच रखनी ही होती है।

कुछ ऐसी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां भी होती हैं जिनमें केवल लोगों को लालच देकर जोड़ दिया जाता है। उनका न तो कोई मज़बूत आधार होता है और ना ही कोई विषय प्लान।

(6) कंपनी में ट्रेनिंग दी जा रही है या नहीं-
यदि आपको भविष्य में कंपनी से अच्छा रिटर्न चाहिए तो यह भलीभांति जांच लें कि नेटवर्क मार्केटिंग की ट्रेनिंग विधिवत हो रही है अथवा नहीं। क्योंकि कोई भी कंपनी तभी सफ़ल होती है जब उसके अंदर काम करने वालों को नियमित रूप से ट्रेनिंग मिलती रहे। 

ट्रेनिंग से तात्पर्य उस कंपनी में ढेर सारे लोगों को जोड़ना ही नहीं होता। अपितु उन्हें उस कंपनी के Products उत्पादों को ख़रीदने के साथ-साथ लोगों तक पहुंचाने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। क्योंकि दुनिया की किसी भी कंपनी का भविष्य अच्छे उत्पादों के बग़ैर संभव ही नहीं।

(7) कंपनी के प्रोडक्ट की जानकारी-
कंपनी के प्रोडक्ट की quality उत्तम होनी चाहिए। यह ज़रूर जान लें कि कंपनी अपना या किसी दूसरी कंपनी का घटिया माल तो नहीं बेच रही है। कंपनी के product आम जनता (उपभोक्ता) के लायक हैं भी या नहीं। ऐसा इसीलिए क्योंकि यदि आप ऐसी कंपनी से जुड़ेंगे तो आप दूसरों को प्रभावशाली ढंग से अपनी टीम में आने के लिए कदापि नहीं कह पाएंगे।

(8) अच्छे लीडर्स हैं या नहीं यह जान लें-
हर नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में अच्छे लीडर्स का होना निहायत ही ज़रूरी होता है। ऐसे कंपनियों के प्रतिभावान लीडर अपनी टीम के सदस्यों के साथ नेटवर्क मार्केटिंग के सीक्रेट अच्छी तरह बांटते हैं। किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी की सफलता उसमें काम करने वाले लीडर्स की प्रतिभा पर निर्भर करता है। अगर अच्छे लीडर्स होंगे तो नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम में आने वाले नए नए लोगों को अच्छी ट्रेनिंग मिल सकेगी। परिणामस्वरूप सफलता के नए झंडे गाड़ने में आसानी होगी। बिना प्रभावशाली लीडर्स के कोई भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी किसी भी शर्त पर चल नहीं सकती।

निष्कर्ष (The Conclusion) -

दोस्तों! मेरी व्यक्तिगत राय तो यही है कि आजकल के नवयुवकों को पैसा न सही, कम से कम Personality Development के लिए ही सही। कुछ दिनों का अनुभव प्राप्त करना ही चाहिए। क्योंकि आज इस लेख में आपने जो कुछ भी जाना है। पढ़ने के बाद ज़रूर सहमत होंगे कि यदि इस तरह की कंपनियों के साथ जुड़ने के बाद आप व्यवहारशील, बड़े सपने देखने वाले, लोगों से बात करने का तरीका, आत्मविश्वास में वृद्धि, काम के प्रति लगन, लोगों की मदद करना, सकारात्मक सोच, प्रभावशाली व्यक्तित्व के मालिक बनते हैं। तब तो आपको ज़रूर किसी अच्छी कंपनी के साथ जुड़कर कुछ दिनों के लिए ही सही, अनुभव प्राप्त करना चाहिए। इससे आपको पैसा भी मिलेगा और यदि न भी मिला तो नेटवर्क मार्केटिंग से आप जीवन में सकारात्मक रूप से जीने का तजुर्बा ज़रूर हासिल कर लेंगे। 

नेटवर्क मार्केटिंग business से यही सीखने मिलता है कि आप को नियमित मेहनत, लगन के साथ काम करना होगा, यह रातों रात अमीर बनने का शार्ट कट नहीं है। इसमें आपको सही कंपनी का चुनाव करना होगा फ़िर मेहनत करना होगा। कहा भी गया है कि-  "there is no free lunch in this world" यानि कि "इस दुनिया में कुछ भी फ़्री में नहीं मिलता।"

हमारे इस लेख को आप नेटवर्क मार्केटिंग टिप्स के तौर पर भी पढ़ सकते हैं क्योंकि हमने पूरी लगन के साथ रिसर्च करते हुए आपसे नेटवर्क मार्केटिंग की जानकारी साझा की है। हमें लगता है कि नेटवर्क मार्केटिंग का फ़्यूचर सचमुच लाजवाब है। 
 
आशा है आपको हमारा यह दिलचस्प लेख "Network Marketing क्यों करना चाहिए?" ज़रूर पसंद आया होगा। यदि आपके पास नेटवर्क मार्केटिंग से संबंधित कोई अनुभव या कोई राय हो तो कमेंट करके हमें ज़रूर बताएँ। और हाँ! अब अपने साथियों को फ़टाफ़ट शेयर भी ज़रूर करें ताकि नेटवर्क मार्केटिंग का महत्त्व वे भी अच्छी तरह समझ सकें।
- Written By Alok

हमारे कुछ अन्य आर्टिकल्स ज़रूर पढ़ें 👇

एक टिप्पणी भेजें

9 टिप्पणियाँ

  1. Bahut behatrin likha h bhaii aapne
    Full details knowledge
    Thnx bro

    जवाब देंहटाएं
  2. Best MLM company join karne ke liye sampark Karen 7004630538

    जवाब देंहटाएं
  3. Best MLM company joining करने के लिए संपर्क करे। 9636317609

    जवाब देंहटाएं
  4. very Useful information About Network Marketing sir .. यह 21वी सदी उभरता व्यवसाय है। एक लेख Vestige पर भी लिखे।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. Most welcome brother! aapko 21वीं सदी के उभरते व्यवसाय पर हमारी information अच्छी लगी। हम Vestige पर लिखने का प्रयास जल्द ही करेंगे।

      हटाएं
  5. Agae app MLM se judna chahate hai to 7
    233914287 par call kare

    जवाब देंहटाएं