Healthy Lifestyle Tips 2021 | Healthy Life के कुछ अचूक गुरु मंत्र | स्वस्थ जीवन जीने के कुछ कारगर उपाय















दोस्तों सच कहें तो हमारे जीवन का मूल आधार हैं स्वस्थ शरीर और स्वस्थ दिमाग़। और जीवन के इन दोनों ही आधारों को संबल देते हैं अच्छा भोजन, अच्छी नींद और सकारात्मक सोच। शरीर स्वस्थ हो तो वह तरीक़े से काम करता है और दिमाग़ उस वक्त और भी बेहतर परिणाम देता है, जब वह पूरी तरह से तनाव मुक्त हो। पर आज की जीवनशैली में ऐसा हो पाना ज़रा मुश्क़िल है।स्वस्थ कैसे रहा जाये? आज के दौर की यह सबसे बड़ी समस्या है।








(1) संतुलित आहार का सेवन करें-




संतुलित आहार से मतलब एक ऐसा आहार है जिसमें बराबर मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट एवं वसा (Fat) आदि शामिल है। एक व्यक्ति के स्वस्थ रहने के लिए संतुलित आहार सबसे महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। अन्यथा वह व्यक्ति एक दिन में कितनी भी एक्सरसाइज़, योगा अथवा कड़ी मेहनत ही क्यूँ न कर ले, उसे कोई फ़र्क नहीं पड़ता। जब तक कि वह अपने आहार में संतुलित मात्रा में पोषक तत्व शामिल न करे। इसके साथ इस बात का भी ध्यान रखना बहुत आवश्यक होता है कि प्रत्येक आहार उचित मात्रा में एवं उपयुक्त समय पर ही ग्रहण करें।


लाखों लोगों की तरह आप भी हमेशा फिट रहना चाहते होंगे। स्वस्थ रहने के नियम क्या हैं?  स्वस्थ जीवन का संबंध केवल स्वस्थ शरीर से ही नहीं होता है बल्कि तन और मन दोनों की सेहत से होता है। तन-मन दोनों से आप स्वस्थ हैं तभी आप जीवन की अनेक कठिनाइयों का सामना आसानी से करते हुए मन-मुताबिक़ मुक़ाम हासिल कर सकते हैं।



(2) सही समय पर भोजन करें-



शरीर को स्वस्थ एवं आकर्षक बनाने में संतुलित भोजन के बाद दूसरा सबसे महत्वपूर्ण बिंदु होता है सही समय पर भोजन, स्वल्पाहार अर्थात नाश्ता। एवं भोजन ग्रहण करना। आजकल सोशल मीडिया पर भी न जाने कितनी ही वेबसाईट्स और चेनल्स चल रहे हैं जो इस विषय पर विस्तृत जानकारियाँ दे रहे हैं।

ज़रूरत है तो सिर्फ़ अपनी life style में इसे आत्मसात करने की। जी हाँ अपने प्रत्येक आहार एवं खान-पान का विशेष ध्यान रखें। प्राचीन काल से जो एक विशेष समय सारणी चली आ रही है जिसे हमारे ऋषि मुनि एवं पूर्वज भी अपनाकर स्वस्थ एवं रोगमुक्त जीवनशैली जीते थे। simple health tips for everyday living जो हम आज आपके साथ शेयर कर रहे हैं। जैसे-

  प्रातः काल (early morning) उठना- यह सबसे अमूल्य आदतों में से एक है। फ़िर टहलना, योगा, एक्सरसाइज़ आदि। नियमित रूप से वॉक करें या हर दिन सुबह सूर्यनमस्कार करने की आदत बनाएं। इससे दिमाग़ और शरीर दोनों स्वस्थ रहेंगे।


अब आती है नाश्ते की बारी- Morning में आप जूस, फल या सलाद आदि ले सकते हैं। जो आपको दिनभर ऊर्जा से परिपूर्ण बनाये रखेगा। आप चाहें तो Alternative day पर अंकुरित अनाज भी ले सकते हैं। येे अपने आपमें सम्पूर्ण आहार है। 

अगर आप Office या College जाने वालों में से हैं तो आप इसे Evening के वक़्त भी हेल्दी स्नैक्स के रूप में ले सकते हैं।

दोपहर का खाना- अब आती है दोपहर यानी कि लंचकी बारी। तो आप अपने लंच में 2 या 3 पतली चपाती के साथ Multiple Vegetable शामिल कर सकते हैं। यदि ऐसा ना भी हो पाए तो आप 2 या 3 चपाती के साथ 2 या 3 कटोरी दाल ले सकते हैं। और साथ में सलाद जैसे- ककड़ी,  मूली,  टमाटर आदि जो भी Time & weather के According जो भी उपलब्ध हो ज़रूर शामिल करें। इससे आपका पेट जल्दी भर जाएगा और आपके शरीर की प्रोटीन Demand भी पूरी हो जाएगी। यदि उपलब्ध हो तो आप लंच में छाछ अवश्य शामिल करें। 

शाम/रात का खाना- शाम को आप ग्रीन टी या Black Tea के साथ 3 से 4 अपने फ़ेवरेट कुकीज़ ले सकते हैं। अब इतना तो चल ही सकता है। सबसे महत्वपूर्ण चीज़ यह कि शाम को 6.30 से 7.30 तक आपका खाना (Dinner) हो जाना चाहिए।

अधिक से अधिक 8 pm तक तो Dinner हो ही जाना चाहिए। क्योंकि इसके बाद आप जो भी खाते हैं वो केवल आपके वज़न को बढ़ाने के अलावा कुछ नहीं करता। आप दिन भर चाहे जितना भी Fasting Dieting, Exercises आदि जो भी करते हैं। उन सब का निचोड़ होता है रात का भोजन यानी कि Dinner. अगर आप रात में Heavy Dinner जैसे कि राज़मा, छोले, सोयाबीन आदि लेते हैं तो आपकी दिन भर की मेहनत पर पानी फिर सकता है।


अगर आप सच में अपनी हेल्थ के लिए ज़रा भी Conscious (सचेत) हैं या अपने आपको healthy & fit जल्द से जल्द करना चाहते हैं तो यक़ीन मानिए रात का खाना हल्का-फुल्का खाकर देखिए।  Result आप ख़ुद Feel करेंगे।

(3) पैकेट बंद खाना न खाएं-




आधी से ज़्यादा बीमारियां और मोटापा इन पॉकेट बंद खाना खाने की वजह से ही होता है। जिनमें न जाने कितने केमिकल्स मिलाकर आप लोगों को खाने के लिए परोसा जाता है। और ये बात आज का बच्चा बच्चा जानता है। फ़्रेश फल और सब्ज़ियों का कोई मुकाबला नहीं है। पैक्ड फ्रूट जूस की जगह ताज़े फलों को खाने की आदत बनाइये।हमेशा फ़ायदे में रहेंगे। तो बताइये कब से छोड़ रहे हैं इन बीमारियों की जड़ को?

(4) डाइट का संतुलन बनाकर रखें-




अक्सर हम यह सोचते हैं कि आज खा लेते हैं कल से हेल्दी डाइट फॉलो कर लेंगे। 1 दिन से भला क्या होता है। यही सोचकर थोड़ा तीखा, तेलीय खाना और जंक फूड का शौक करते हैं तो आपको संभल जाना चाहिए। क्योंकि healthy lifestyle food ही आपको एक आदर्श हेल्दी लाईफ़ दे सकता है।


जितना हो सके Reasonable, Seasonable और Natural Food का सेवन करें। यही आपकी सेहत का ख़ज़ाना है। इसे संभालने का प्रयास कीजिये। समय के साथ मौसमी फल एवं सब्ज़ियों का सेवन ही उत्तम स्वास्थ्य का मूल मंत्र है। क्योंकि भले ही चीज़ें स्वाद में अच्छी लगती हों लेकिन सेहत पर उतना ही बुरा असर करती हैं। इसीलिए हेल्दी लाईफ़ चाहते हैं तो अपनी डाइट पर ध्यान देना शुरू कर दीजिए।

चटपटे, तीखे खाने को कम करें और हरी सब्ज़ियां, अनाज, दाल आदि को अपने खाने में शामिल करें। इस तरह आपके खाने में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फेट, मिनरल्स, विटामिन और फ़ाइबर की मात्रा पर्याप्त मात्रा में मिलने लगेगी और अनेक बीमारियों से छुटकारा भी दिलाएगी। आपकी सेहत को बनाये रखने के साथ-साथ मन को स्थिर और शांत बनाये रखने में मदद मिलेगी।

(5) पानी का उपयुक्त सेवन करें



अपने दिन की शुरुआत आप हल्के गुनगुने पानी को पीकर करें जो आपके रात भर के अमूल्य सलाइवा (लार) को आपके पेट में पहुँचाकर आपके हेल्थ को और अधिक Strong  बनाता है। ज़रूरी नहीं कि प्यास लगने पर ही पानी पीया जाए। आप दिन में घूँट-घूँट पानी पीने की आदत भी बना सकते हैं जो आपकी हेल्थ के लिए लाभकारी साबित हो होगा। 


भोजन के आधा घंटा पहले या भोजन करने के आधा घंटा या  १ घंटे बाद पानी पियें। भोजन के बीच में ख़ूब पानी न पीयें। ज़रूरत पड़ने पर घूँट भर यानी कि थोड़ा सा पानी पी सकते हैं। जिसमें आपकी बॉडी hydrated रहेगी जिससे आप दिन भर ऊर्जावान महसूस करेंगे।

(6) नेचुरल स्वीटनर का ज़्यादातर प्रयोग करें



जब भी मीठा खाने का मन करे, आप प्राकृतिक स्वीटनर जैसे- गुड़, मिश्री, शहद और फलों का जूस आदि का सेवन करें। ये सभी आपकी मीठा खाने की demand को भी पूरा करते हैं और Extra Fat से भी बचाते हैं। वैसे भी ज़्यादा मीठा खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है। ज़्यादा मीठा खाने से डायबिटीज़, मोटापा, दांत दर्द, कोलेस्ट्रॉल में कमी होने लगती है। हड्डियाँ कमज़ोर होने के साथ-साथ रोग प्रतिरक्षा तंत्र भी कमज़ोर होता चला जाता है। 

(7) पर्याप्त नींद लें-



जिस तरह एक अच्छी Diet हेल्थ के लिए आवश्यक होती है वैसे ही अच्छी नींद भी उत्तम स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है या यूँ कहिये की यह उत्तम स्वास्थ्य की कुंजी है। एक वयस्क आदमी को कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद ज़रूरी होती है जो कई सारी Problems से बचाती है और अनेक बीमारियों को दूर भगाती है।

(8) ख़ुद के लिए समय निकालें-



एक हेल्दी लाईफ़ के लिए आपका ख़ुद के लिए थोड़ी फ़ुर्सत निकालना भी ज़रूरी है। ऐसा करने से आप अपनी बॉडी और दिमाग़ में बढ़ रहे तनाव को दूर करके रिलेक्स Feel कर सकते हैं और यदि आप Relax फ़ील करते हैं तो आपकी दिनचर्या पर ज़बरदस्त प्रभाव पड़ेगा। इसलिए थोड़ा सा वक़्त ख़ुद के लिए निकालने का प्रयास किया कीजिये। जिसमें अपनी पसंद का काम करते हुए अच्छा फ़ील करिए और हेल्दी लाईफ़ जीने की आदत डालिये।


(9) योग और प्राणायाम करें -




आज की व्यस्त ज़िन्दगी में अच्छे स्वास्थ्य और हेल्दी लाइफ़ के लिए योगा-प्राणायाम किसी वरदान से कम नहीं हैं। योग में शामिल व्यायाम, प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास करके आप अपने हर दिन को तरोताज़ा और एनर्जेटिक बनाये रख सकते हैं, इससे मन में स्थिरता और एकाग्रता बढ़ने से आपका प्रदर्शन हर क्षेत्र में बढ़ता जाता है।
इसे अपनाकर आप अपने शरीर को तंदुरुस्त और मन को व्यर्थ की चिंताओं से छुटकारा दिला सकते  हैं। योग और प्राणायाम से कई रोग दूर होते हैं। भले ही शुरुआत में ये आदत बनाना कठिन है मगर एक बार आदत बन जाने पर आपकी दिनचर्या बदलने में देर नहीं लगेगी।
 

(10) सोच को पॉजिटिव बनाये रखें-


आपको बता दें कि एक हेल्दी लाईफ़ के लिए मन में अच्छे विचारों का होना उतना ही ज़रूरी है। क्योंकि बुरे विचार मन में तनाव पैदा करते हैं जिस कारण मन के साथ-साथ तन भी बुरी तरह प्रभावित होता है। इसीलिए हमें चाहिए कि विपरीत सोच, निराश और तनाव से हमेशा दूरी बनाये रखने का सदैव ही प्रयास करें।


अपने आसपास की बातों को पॉज़िटिव नज़रों से देखने का प्रयास करें। उन चीजों से अपना ध्यान हटा लें जो बातें आपको दुःखी करती हैं। हमेशा ही सोचते रहने की आदत को छोड़ देने की कोशिश करें। अपना सारा ध्यान कुछ क्रिएटिव बातों पर लगाने का प्रयत्न करें। जो आपको पसंद हों और जो आपके जीवन के लिए बेहतर हों। अच्छा देखें, सुनें, पढ़ें। इस तरह आप जल्द ही अच्छी हेल्दी लाईफ़ जीना शुरू कर देंगे और पॉज़िटिव सोच के साथ एक नई एनर्जी से भरपूर खुशनुमा जीवन जीना शुरू कर देंगे।

(11 ) अपने रूटीन को बैलेंस करना सीखें-



दोस्तों अधिकतर लोगों की समस्या यही होती है कि वे अपने रूटीन से परेशान तो रहते हैं लेकिन सब कुछ जानते हुए भी अपने उस रूटीन को बदल नहीं पाते। अपनी अव्यवस्थित दिनचर्या की वजह से आप पूरा दिन उलझे रहते हैं। और मारे हड़बड़ी के आप कई सारे काम तय समय पर नहीं कर पाते। परिणाम स्वरूप ख़ुद ही तनाव में डूब जाते हैं। इसलिए आप ध्यान रखें कि अपनी दिनचर्या को बैलेंस करना सीख लें। क्योंकि दिनचर्या का बैलेंस होना भी हेल्दी लाईफ़ के लिये अति आवश्यक है।

अपने उठने और सोने का समय, नाश्ते, लंच और यहां तक कि डिनर का टाईम का मैनेजमेंट (बेलेंस) बनाकर चलिये ताकि दिन भर एक्टिव बने रहने में ख़ुद की मदद कर सकें। हेल्दी लाईफ़ के लिए यह सब ज़रूरी है।

(12) खुलकर हंसना सीखें-



दोस्तों आपने महसूस किया होगा कि हँसते-मुस्कुराते चेहरे देखकर हम भी मुस्कुरा उठते हैं। यानी कि दिन की शुरुआत यदि मुस्कुराहट के साथ की जाए तो निश्चित रूप से पूरे दिन के स्फूर्ति के लिए इससे बेहतर कोई और विकल्प हो ही नहीं सकता।

वैसे भी आजकल किसी के पास हँसने का समय ही नहीं बचा है। जबकि यह जानकर आपको हैरानी होगी कि हेल्दी लाईफ़ के लिए हँसना बहुत ज़रूरी है। इससे आपका मन तुरंत खुश हो जाता है और आपकी सेहत भी बेहतर हो जाती है। इम्युनिटी और पाचन बेहतर हो जाता है। सबसे बड़ी बात, आप तनाव मुक्त हो जाते हैं।


(13) बुरी आदतों से दूरी बनायें-



कई बार हम जाने-अनजाने में बुरी आदतों या लतों के आदी हो जाते हैं जैसे धूम्रपान, अल्कोहल और तम्बाकू जैसी नशीली चीज़ों का सेवन करने लगते हैं। जो हमारी सेहत के लिए अति नुकसानदायक है। यहाँ तक मृत्यु भी हो सकती है। हैरानी तो यही है कि यह सब जानते हुए भी हम इससे छुटकारा नहीं पा सकते। 

इसिलिए ऐसी बुरी लत लगाने से बेहतर है इससे दूरी ही बनाकर रहें। वर्ना ख़ुद को बुरी लतों के चंगुल से छुड़ाना बड़ी टेढ़ी खीर साबित होती है। ऐसे अनेक उदाहरण हैं जहाँ सब कुछ भी लोग  स्वास्थ्य के लिए तरसते हुए लाचारी भरा जीवन जीने को मजबूर होते हैं। 


दोस्तों हम सभी स्वस्थ और सेहतमंद जीवन जीने की चाह रखते हैं। कुछ सवाल हमेशा हमारे मन में होते हैं जैसे कि 'शरीर को स्वस्थ रखने के लिए क्या करना चाहिए ?' खानपान को लेकर सोच रहती है कि स्वस्थ रहने के लिए खानपान कैसा रखें ? फिट लोगों को देखकर शरीर को फिट रखने के उपाय के बारे में सोचते रहते हैं। मगर जब इसके लिए प्रयास करने की बात आती है तो हम आप कहीं ना कहीं मानसिक रूप से पीछे हटने लगते हैं यानी कि प्रयास करने से पहले ही हिम्मत हार जाते हैं। हमारी आदतें और हमारे शौक़ हमारी सेहत पर विपरीत प्रभाव डालते हैं। 

लेकिन यदि चाहें तो अपनी इन्हीं आदतों और शौक़ को बदलकर इस चाहत, इस सपने को हक़ीक़त में बदल सकते हैं। यदि हम चाहें तो सब कुछ संभव है। अपने हर एक दिन को सेहत से भरपूर बनाए रखने के लिए आपको अपने रूटीन, डाइट, एक्सरसाइज़ और मुस्कुराने की आदत डालनी होगी। आयुर्वेद के अनुसार दिनचर्या बनानी होगी। परिणाम स्वरूप आपके जीवन की गाड़ी चल निकलेगी और वो भी टॉप गेयर पर।

तो दोस्तों आपने इस लेख "स्वस्थ जीवन जीने के कुछ कारगर उपायके माध्यम से अवश्य ही जान लिया होगा कि हम सेहतमंद कैसे रह सकते हैं? उम्मीद है आप इसे अपने दोस्तों को अवश्य ही शेयर करेंगे। मिलते हैं फ़िर किसी और lifestyle article के साथ।
- By Poonam

अन्य आर्टिकल भी पढ़ें 👇

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ