मछलियों से जुड़े 20 रोचक तथ्य | दुनिया की सबसे अनोखी मछलियाँ | 20 Amazing facts about fishes in hindi

दोस्तों मछलियाँ नाम सुनते ही न जाने कितने चित्र आँखों के सामने उभरकर सामने आ जाते हैं। रंगबिरंगी, चित्र विचित्र मछलियों का संसार सचमुच बड़ा ही रोचक होता है। साथ ही आश्चर्य जनक भी। मछलियों का अनोखा संसार बड़ा ही अद्भुत होता है।








विश्व की सबसे आश्चर्यजनक मछलियाँ

इस अंक में हम मछलियों के बारे में कुछ विशेष जानकारी देने वाले हैं जो बड़ी ही रोचक interesting facts about fishes होने के साथ-साथ अचंभित करने वाली होंगी। आइये जानते हैं इन मछलियों की प्रजाति के बारे में कुछ रोचक तथ्य।

(1सफ़ेद शार्क की एक ख़ास बात होती है। क्योंकि वह वातावरण के अनुसार अपने शरीर का तापमान बदलने में माहिर होती है। इससे वह बहुत ठंडे पानी में भी रह लेती है।

(2) मछलियों की ज़्यादातर प्रजातियाँ अंडे देती हैं। लेकिन मछलियों की प्रजातियाँ कुछ ऐसी भी होती है जो बच्चे देती हैं। जैसे कि सफ़ेद शार्क मछली।
 
(3) कुछ मछलियाँ ऐसी होती हैं जो उल्टी दिशा में भी तैर लेती है। जैसे कि ट्रिगर फिश


(4) गोल्ड फिश सबसे भुलक्कड़ मछली मानी जाती है। इसे सिर्फ कुछ सेकंड तक ही कुछ याद रहता है।

(5) वैसे तो मछलियों की यही एक प्रकृति होती है कि ये सिर्फ़ पानी में ही ज़िंदा रह सकती हैं। लेकिन 'मड स्किपर' मछली अपने जीवन का अधिकतम समय पानी के बाहर ही गुज़ारती है। यह अपने पंखों के ज़रिये ज़मीन पर चल भी सकती है।

(6) आपको यही लगता होगा कि मछलियों का जीवन पानी के अंदर सबसे ज़्यादा आसान होता है। किंतु वास्तव में यह सच नहीं है। अगर उन्हें पानी में ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में न मिले तो मछली की मौत भी हो सकती है।


(7) समुद्री घोड़ा मछली अपनी दोनों आँखों को अलग-अलग दिशा में घुमा सकती है। और वातावरण के मुताबिक अपना रंग भी बदल सकती है।

(8) सूर्य मछली की बात करें तो, मादा सूर्य मछली एक साल में लगभग 30 करोड़ अंडे देती है। जिन अंडों का आकार छोटे बिंदु जितना होता है।


(9) विश्व की सबसे बड़ी शार्क मछली की लंबाई दो बसों जितनी होती है। और वज़न की बात करें तो यह क़रीब 25000 किग्रा वज़न की होती है।

(10) सफ़ेद शार्क में अपने शरीर का तापमान बढ़ाने की क्षमता होती है। इससे वह बहुत ठंडे पानी में भी रह लेती है।

(11) शार्क मछली में एक बड़ी ही दिलचस्प बात जानकर आप हैरान हो जाएंगे वह यह कि इसकी पलकें होती हैं।

(12) सैल फ़िश दुनिया की सबसे तेज़ तैरने वाली मछली है। जो हाइवे पर चलने वाली किसी कार की स्पीड जितनी रफ़्तार से भाग सकती है।

(13) सी हॉर्स नामक मछली, सबसे धीमी गति से तैरने वाली मछली मानी जाती है। ये अत्यंत ही धीमी रफ़्तार से तैरती है।

(14) पूरी दुनिया में कुल मछलियों के प्रकार की बात करें तो आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि ये मछलियाँ दुनिया भर में लगभग 32000 तरह की पायी जाती हैं।

(15) कुछ मछलियाँ न केवल विशालकाय हैं। बल्कि इतनी ख़तरनाक है कि पूरे इंसान को निगल सकती है। उदाहरण के लिए गोलिअथ टाइगर फ़िश की बात करें तो यह इतनी भयानक मछली होती है। कि यह मगरमच्छ को भी बड़ी आसानी से साबूत निगल जाती है।


(16) नीली मछली में एक ख़ास बात यह पायी जाती है कि यह बिना कुछ खाये ख़ुद को छः महीनों तक ज़िंदा रख सकती है।

(17) एक व्हेल मछली के करीब 4000 तक दाँत होते हैं।

(18) अमेजन लेस ईटर्स एक ऐसी अफ्रीकन मछली है जो इंसान को निगल सकती है। यह मछली जब इंसान पर हमला करती है, तो शरीर पर छुरा घोंपने जैसा निशान बन जाता है।

(19) एक विचित्र प्रकार की मछली भी होती है जिसे समुद्री घोड़े के नाम से जाना जाता है। दरअसल उसका सिर घोड़े के सिर से मिलता जुलता होता है। इसका शरीर कड़ा तो होता ही है। लेकिन चिकना भी बहुत होता है। इसकी पूँछ हूबहू साँप जैसी दिखाई देती है।

(20) मडस्किपर नामक मछली जब कीचड़ से बाहर निकलती है तो इसकी पूँछ ही इसके लिए श्वसन का माध्यम बनती है। बताया जाता है कि इसकी पूँछ में असंख्य रक्त कोशिकाएँ होती हैं। कीचड़ में रहने वाली यह मछली ज़मीन पर भी रह सकती है साथ ही पेड़ों पर भी आसानी से चढ़ सकती है।

उम्मीद है आपको मछलियों की जानकारी से भरा यह अंक ज़रूर पसंद आया होगा। आशा है 20 facts about fishes in hindi को पढ़कर आपने रोमांचित ज़रूर महसूस किया होगा। क्योंकि इस अंक में हमने कुछ विचित्र विशेषताओं वाली मछलियों का परिचय कराया है। जिनमें समुद्री मछलियाँ भी शामिल हैं।

अन्य आर्टिकल्स भी पढ़ें👇

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ