रूम हीटर से होने वाले नुकसान और सावधानियां | Disadvantages and Precautions from Room Heaters in hindi

दोस्तों गर्मी में जहां कमरे को ठंडा करने के लिए आजकल एयर कंडीशन का इस्तेमाल किया जाता हैं वहीं सर्दी के दिनों में ठंडी से बचने के लिए आजकल अंगीठी (सिगड़ी) नहीं बल्कि नई तकनीक का इस्तेमाल करने लगे हैं। जी हाँ! आप सही समझे! हम Room Heater (रूम हीटर) की बात कर रहे हैं। 



जी हाँ! सर्दियों में रूम हीटर का जब भी इस्तेमाल करें, पूरी सावधानी के साथ करें। इस मौसम में रूम हीटर के अधिक इस्तेमाल से आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है। अगर आपको भी सर्दियों में बंद कमरे में रूम हीटर चलाने में मज़ा आता है तो हमारे इस लेख को एक बार ज़रूर पढ़ें ताकि आप रूम हीटर से सेहत पर होने वाले विपरीत प्रभावों को जान सकें। हमें उम्मीद है आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद रूम हीटर (Room heater) का उपयोग सावधानी पूर्वक कैसे करें? यह भलीभाँति जान जायेंगे। 

"ठंड के दिनों में कमरा गर्म रह सके, इसके लिए जिस उपकरण का उपयोग किया जाता है रूम हीटर Room Heater कहलाता है। इसे इलेक्ट्रिक फेन हीटर (Electronic fan heater भी कह सकते हैं।" 

अधिकांश हीटरों के अंदर लाल-गर्म धातु की रॉड या सिरेमिक कोर होते हैं जिससे हवा गर्म होकर निकलती है। इसीलिये इसका उपयोग सर्द मौसम में कमरे के अंदर की ठंडी हवा को गर्म करने के लिए किया जाता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको Room heater से होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे साथ ही कुछ सुझाव भी देंगे ताकि आप इसका इस्तेमाल करते समय सावधानी बरतते हुए इससे होने वाले नुकसानों से दूर रह सकें।


किस तरह काम करता है रूम हीटर | How does it work room heater in hindi

रूम हीटर (electronic fan heater) की बनावट व उसकी कार्यशैली की बात करें तो कमरे को गर्म करने के लिए मुख्यतः 2 प्रकार के हीटरों का इस्तेमाल होता है। जिसमें एक तो रॉड टाइप और दूसरा बॉल टाइप हीटर होता है।

रॉड टाइप रूम हीटर (Rod type room heater) में सिंगल या डबल रॉड लगा दी जाती हैं। इसमें नाइक्रोम तार (हीटिंग एलिमेंट के रूप में) को चीनी मिट्टी की रॉड पर लपेट दिया जाता है। उष्मीय किरणों को परावर्तित करने के लिए लोहे की शीट का बना एक रिफ्लेक्टर Reflector लगा दिया जाता है जिस पर निकिल क्रोमियम की परत चढ़ी होती है।

बॉल टाइप रूम हीटर (Bowl type room heater) का उपयोग कमरा गर्म करने के लिए सबसे ज़्यादा होता है। इसमें चीनी मिट्टी (जो कि बॉल के जैसे बना होता है) के ऊपर हीटिंग एलिमेंट लपेट दिया जाता है। इसी के पीछे एक अर्धगोलाकार रिफ्लेक्टर Reflector लगा होता है जिस पर निकिल या क्रोमियम की परत चढ़ी होती है। यही reflector हीटर में उत्पन्न ऊष्मा को आगे की ओर अधिक से अधिक परावर्तित करने का काम करता है।


रूम हीटर से हो सकते हैं क्या-क्या नुकसान ꘡ Room heater Disadvantages in hindi




आपको यह जानकर हैरानी होगी कि Room Heater जितना सुविधाजनक है उतना ही आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी है। यहां तक कि यही हीटर आपकी जान भी ले सकता है। आइये जानते हैं कि कमरे में हीटर लगाने से क्या-क्या नुकसान होते हैं? जो कि निम्नानुसार हैं-

(1) कमरे में मौजूद हवा की नमी सोख लेता है-
हीटर या ब्लोअर के माध्यम से बाहर निकलने वाली हवा कमरे के अंदर की हवा में मौजूद प्राकृतिक नमी को सोख लेती है। यह कमरे के अंदर की शुष्क नमी रहित हवा आपकी त्वचा में सूखापन व खुरदुरापन ला सकती है। यदि आपकी स्किन संवेदनशील है तो इससे आपको खुजली और स्किन पर लाल निशान भी हो सकते हैं।

(2) कमरे में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है-
लगातार इसके इस्तेमाल से घर के अंदर की हवा में मौजूद ऑक्सीजन जल जाती है। इससे कमरे में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है, कमरे को अगर पूरी तरह बंद कर दिया जाए तो यह इतना ख़तरनाक हो सकता है कि आपकी जान भी जा सकती है।

(3) बच्चों के लिए हो सकता है नुकसानदायक-
कमरे को गर्म रखने के लिए हीटर लगाने से कमरे के अंदर मोनोऑक्साइड की मात्रा बढ़ती है। यदि कमरे में छोटे बच्चे हों तो उनके मस्तिष्क और अन्य अंगों को नुकसान पहुँच सकता है। बच्चों की स्किन और नाक के मार्ग को क्षति हो सकती है। स्किन पर जगह-जगह लाल चकत्ते पड़ सकते हैं। कमरे में होने वाली ऑक्सीजन की कमी से सांस लेने में भी तकलीफ़ हो सकती है।

(4) बुज़ुर्गों के लिए हो सकता है नुकसानदायक-
कमरा गर्म करने के लिए उपयोग में लाया गया हीटर बुज़ुर्गों के लिए भी बहुत हानिकारक हो सकता है। हीटर के ज़्यादा उपयोग करने से अस्थमा और सांस की परेशानियां भी बढ़ सकती हैं। बुज़ुर्गों को कमरे के अंदर सांस लेने में तकलीफ़ होने से उनका दम भी घूंट सकता है।

(5) आँखों के लिए है बेहद नुकसानदेह-
चूंकि कमरे की हवा में मौजूद प्राकृतिक नमी को हीटर सोख लेता है। इसीलिये हीटर के लगातार चलने से आंखों की नमी भी ख़त्म होने लगती है। आंखों में जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है। 

(6) कमरे में ज़हरीली गैस का स्तर बढ़ सकता है-
इलेक्ट्रिक फेन हीटर का इस्तेमाल लगातार करने से कमरे के अंदर ज़हरीली गैस जैसे कि कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर बढ़ने लगता है। जिससे शिशुओं के मस्तिष्क और नाक और सांस से संबंधित रोगों का ख़तरा बढ़ जाता है। वयस्कों के लिए भी बहुत ख़तरनाक साबित हो सकता है। इससे सांस से संबंधित अनेक रोग शुरू हो सकते हैं। अस्थमा के रोगियों के लिए तो यह जानलेवा हो सकता है।

(7) हो सकती हैं स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याएं-
कमरे में लगातार हीटर के चलने से कमरे की ऑक्सीजन कम होने लगती है। जिसकी वजह से सुस्ती, जी मचलाने और सिर दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे हीटरों से श्वसन तंत्र को नुकसान पहुंचाने वाले रसायन निकलते रहते हैं। घर में कमरे के अंदर कार्बन- डाइऑक्साइड और मोनोऑक्साइड का स्तर बढ़ जाने से व्यक्ति को घुटन की समस्या हो सकती है। फेफड़ों में बलग़म, छींक और खाँसी की समस्या भी हो सकती है।


हीटर चलाते समय किन बातों का रखें ध्यान ꘡ Precautions from room heater in hindi


Room heater

हीटर का प्रयोग करते समय अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो इससे होने वाले ख़तरों को कुछ कम ज़रूर कर सकते हैं। 

(1) कमरे में एक बाल्टी पानी ज़रूर रखें-
हीटर का उपयोग जब भी करें। कमरे में एक कटोरा या एक बाल्टी भरकर पानी ज़रूर रखें।। इससे नमी कम नहीं होगी। यह पानी वाष्पीकरण की तरह काम करेगा और कमरे की हवा में नमी बनाए रखने में सहयोग करेगा।

(2) हीटर को ज़्यादा तेज़ ना चलाएं-
कमरे के अंदर हीटर को ज़्यादा तेज़ न चलायें। इससे आपको बेचैनी हो सकती है। हीटर चलाते समय इस बात का ध्यान रखें कि हीटर उचित तापमान पर ही सेट किया गया हो ताकि आपका कमरा ज़रूरत से ज़्यादा गर्म ना हो।

(3) हीटर की सर्विसिंग समय पर कराते रहें-
अपने हीटर की सर्विस समय-समय पर ज़रूर कराएं। सर्विसिंग करवाते रहने से आपके हीटर की ट्यूब, क्वाइल आदि सभी अच्छी तरह से काम करते रहेंगे। क्योंकि यदि ये ख़राब हो जाएंगे तो निश्चित रूप से कमरे के अंदर अधिक कार्बन-मोनोऑक्साइड का उत्सर्जन होगा जो कि स्वास्थ्य के लिए ज़्यादा हानिकारक होगा।

(4) कमरा पूरी तरह बंद न रखें-
हीटर चलाते समय इस बात का ध्यान हमेशा रखें कि कमरे की खिड़कियां या दरवाज़े पूरी तरह बंद ना हों। क्योँकि बंद कमरे में हवा ज़हरीली हो जाती है। जिसके नुकसान आपको ज़्यादा सहने पड़ सकते हैं।

(5) बच्चों और बुज़ुर्गों की पहुंच से दूर रखें-
रूम हीटर को बच्चों और बुज़ुर्गों की पहुँच से हमेशा ही दूर रखें। इसमें ज़रा भी लापरवाही आपको भारी पड़ सकती है। ऐसे हीटर जिसमे गर्म लाल रॉड हो यदि बच्चों और बुज़ुर्गों के संपर्क में आ जाएं तो इसकी आपको भारी क़ीमत चुकानी पड़ सकती है।

(6) प्राकृतिक रूप से समायोजन का प्रयास करें-
सर्दियों से बचने के लिए दिन-रात सिर्फ़ हीटर पर निर्भर रहने से बेहतर है आप गर्म कपड़ों आदि का इस्तेमाल करना सीखें। क्योंकि गर्म कपड़े आपके शरीर को मौसम के अनुसार समायोजित (Adjustment) करने और आपकी प्रतिरोधक क्षमता Immunity power के अनुसार काम करने में मदद करेंगे। जिससे आपका शरीर सर्दी के अलावा और भी कई मौसमी बीमारियों से लड़ने में तत्पर रहेगा।

दोस्तों आपने देखा कि रूम हीटर के साइड इफेक्ट्स (side effects of room heater) बहुत ज़्यादा हो सकते हैं अगर हम पूर्ण सावधानी ना बरतें। क्या कमरा गर्म करने वाले हीटर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं? दोस्तों इस सवाल का सीधा सा जवाब यही है कि हमें इस नई तकनीक का उपयोग करते समय ऊपर दी गयी सभी समझाइशों को follow करना चाहिए। वरना इलेक्ट्रिक रूम हीटर से स्वास्थ्य पर होने वाले दुष्प्रभाव अधिक देखने पड़ेंगे। सर्दी से बचने के लिए इलेक्ट्रिक रूम हीटर एक बेहतरीन कृत्रिम विकल्प ज़रूर है। लेकिन पूरी तरह इसपर निर्भर हो जाना ख़तरनाक है।

इसलिए आप सभी से यही request है कि जहां तक हो सके अपने आप को प्राकृतिक रूप से ढालने का प्रयत्न करें यानी कि गर्म कपडों का सहारा लेना ज़्यादा अच्छा है। अपेक्षाकृत रूम हीटर पर पूरी तरह निर्भरता के। इमरजेंसी के रूप में उपयोग करना भी हो तो रूम हीटर चलाते समय सावधानियां ज़रूर बरतें। तभी आप हीटर के होने वाले नुकसान से अपने साथ-साथ घर के अन्य सदस्यों को भी सुरक्षित रख पाएंगे।


निष्कर्ष (The Conclusion)-

दोस्तों टेक्नोलॉजी जितनी आगे बढ़ रही है मानव जीवन में सुविधाएँ और उनसे मिलने वाले लाभ भी अनेक होते हैं। आवश्यकता है तो बस उन उत्पादों की सावधानी पूर्वक उपयोग करने की। हमें हर सुविधा का उपयोग एक सीमा तक करना चाहिए और निश्चित रूप से सदुपयोग करना चाहिए। दुरूपयोग कदापि नहीं। हमें जितना हो सके मशीनों का उपयोग आवश्यक होने पर ही करना चाहिए। बाकि समय में शरीर को सामान्य रूप से उस योग्य ढालना चाहिए कि वह वातावरण के हिसाब से ख़ुद को बदल सके।Room Heater भी ठंडी के मौसम में स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए ही बनाये गए हैं।

रूम हीटर का उपयोग आपके और आपके परिवार के लिए लाभदायक साबित हो सकते हैं। बस आपको इन कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा जिन बातों की चर्चा हमने इस आर्टिकल में आज की है। उम्मीद करते हैं आज का यह अंक " रूम हीटर से होने वाले नुकसान और सावधानियां " आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगा। आप रूम हीटर का सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करते हुए बेहतर स्वास्थ्य लाभ ले सकेंगे।
- By Alok

अन्य आर्टिकल भी पढ़ें👇

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ