मौसमी फलों के फ़ायदे | Mausami falon ke fayde | benefits of eating fruits in hindi

गर्मियों में रसीले फलों को खाकर बढ़ाए अपनी इम्युनिटीsummer season fruits in india in hindi




ठंड पूरी तरह से समाप्त हो गयी है। और ग्रीष्म ऋतु की शुरुआत हो गयी है। धीरे-धीरे गर्मी अपनी रफ़्तार पकड़ रही है। ऐसी चिलचिलाती गर्मी में ठंडा-ठंडा शीतल जल और और मीठे-मीठे रसीले फलों का आनंद लेने का मज़ा ही कुछ और होता है। साथ ही यह स्वास्थ्य के लिए बेहद ही लाभदायक भी होता है।

तो आज हम गर्मियों में कौन कौन से फ्रूट खाने चाहिए?  इस आर्टिकल में जानेंगे। garmiyon mein milane wale fal गर्मियों में मिलने वाले फलों के फ़ायदे भी जानेंगे। बस आप हमारे इस लेख के अंत तक बने रहिये। क्योंकि हम इन्हीं मीठे और रसीले फलों के सेवन से होने वाले अनगिनत फ़ायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

वैसे तो हर फल अपने अपने आप में सर्वश्रेष्ठ है। परंतु यदि आप seasonable fruit मौसमी फल यानि कि हर मौसम में आने वाले विशेष फलों का सेवन करते हैं। तो निश्चित तौर पर इन फलों के फ़ायदे आपको लाजवाब मिलते हैं। तो चलिये garmiyon ke fal aur unke labh जानते हैं।


गर्मियों के फल और उनके लाभ | Benefits of sammer fruits in hindi




गर्मियों में मिलने वाले फल लीची, तरबूज़, खरबूजा, आम, अंगूर, केला, ककड़ी, खीरा, नारियल, बेल, पपीता और खरबूजा, गन्ना आदि हैं। जिनसे मिलने वाले फ़ायदे benefits of fruits in hindi हम निम्न बिंदुओं के माध्यम से पढ़ेंगे -

1) शरीर में पानी की कमी पूरी करे -
तरबूज़, खरबूजा, खीरा, अंगूर आदि में पानी की अच्छी मात्रा होती है। जिनके सेवन से शरीर में पानी की कमी पूरी होती है। साथ में आपके शरीर में आवश्यक तत्वों की पूर्ति करते हैं। शरीर को ताज़गी, स्फूर्ति और नई ऊर्जा से भर देते हैं।

2) शरीर में नई ऊर्जा का संचार -
जब हम किसी भी fruit का सेवन करते है। तो उसके सभी विटामिन एवं उसके आवश्यक पोषक तत्व हमारे शरीर में अवशोषित (absorb) हो जाते हैं। जिससे हमारे शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है और हमें शक्ति मिलती है। और सबसे महत्वपूर्ण बात, हमारी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी बनी रहती है।


3) मोटापे से मुक्ति -
आप हर रोज़ अपने सुबह के ब्रेक फ़ास्ट में कम से कम फल ज़रूर शामिल करें। वैसे तो फल खाने के अनेक फ़ायदे होते हैं। लेकिन उनमें सबसे अहम और महत्वपूर्ण फ़ायदा यह है कि प्रतिदिन फलों के सेवन करने से आपके शरीर में जमा अनावश्यक चर्बी (fat) पिघल (burn) जाती है। आपकी उपापचय (metabolism) प्रक्रिया सुचारू रूप से कार्य करने लगती है।

4) मधुमेह में फ़ायदेमंद -
वैसे तो मधुमेह अर्थात डायबिटीज़ पेशेंट को शक्कर या मीठा खाने की मनाही होती है। लेकिन अगर आप प्रकृति से प्राप्त होने वाली क़ुदरती मिठास का सेवन करते हैं तो यक़ीन मानिये यह आपके लिए नैचुरल (natural) मिठास का काम करने के साथ ही आपके शरीर में मीठे की माँग (demand) को भी पूरा करती है।



कई शोधों में यह पाया गया है कि अगर आप सुबह के नाश्ते में 1 प्लेट फलों से भरा हुआ आहार लेते हैं। तो ये आपकी मधुमेह, ब्लडप्रेशर एवं हार्ट से सम्बन्धित कई बीमारियों को दूर करने में बहुत ही सहायक सिद्ध होती है।

आजकल यह ख़ूब प्रचलन में है। कई वैज्ञानिक, डॉक्टर और रिसर्चर खुलकर इस बात को दावे के साथ कहते हैं कि 'फलों एवं सब्ज़ियों के नियमित सेवन और उचित मात्रा में प्रयोग से आप कई बीमारियों पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।' तो आज से ही अपनाइए प्रकृति के इस सबसे अमूल्य उपहार को और हो जाइए सेहत से मालामाल।

5) पाचन के लिए रामबाण -
आज के समय में जहाँ सभी लोग unhealthy life style की तरफ़ आकर्षित हो रहे हैं। फल वग़ैरह खाना किसी को भी रास नहीं आ रहा है। पुराने समय में हमारे ऋषि मुनि और राजा महाराजा इन्हीं फलों के सेवन से अत्यंत सेहतमंद, विद्वान और शूरवीर हुआ करते थे।

लेकिन आजकल तो पिज़्ज़ा, बर्गर और हॉट डॉग से ही लोगों को फ़ुर्सत नहीं। फलों में भरपूर मात्रा में विटामिन, मिनरल्स एवं खनिज पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर को हर तरह से स्वस्थ एवं ऊर्जावान बनाते हैं। विशेषकर रेशेदार फलों के सेवन से हमारे शरीर को उचित मात्रा में फ़ाइबर प्राप्त होता है। जो हमारे शरीर की पाचन क्रिया में अत्यंत लाभकारी है।


 
ये रेशेदार फल हमारे शरीर में पाचन क्रिया को दुरुस्त करते हैं। एवं शरीर मे जो अनपचे पदार्थ हैं यानि कि जो डायजेस्ट नहीं हुए हैं। जो कि शरीर के भीतर टॉन्सिल एवं ज़हरीले विषाक्त पदार्थों का रूप ले लेते हैं, उन्हें शरीर से बाहर निकाल फ़ेंकने में बहुत मदद करते हैं।


आप सुबह के नाश्ते के समय, फलों से भरी सिर्फ़ एक प्लेट का सेवन करके देखिए। आपकी आँखों में चमक और आपके पेट को जो सुक़ून मिलेगा। साथ ही आपकी पूरी बॉडी जब आपसे thank you कहेगी। यक़ीनन आप इस बेहतरीन रूटीन के आदी बन जायेंगे।


6) बालों के लिए महत्वपूर्ण -
जहाँ आजकल सभी बालों की समस्या जैसे बालों का झड़ना, सफ़ेद होना, डेंड्रफ़ आदि समस्याओं से ग्रसित हैं। इन समस्याओं की मूल जड़ है अन हेल्दी लाइफ़स्टाइल यानि अव्यवस्थित जीवन शैली और unhealthy खाना। फलों के सेवन से आपके बालों को नई जान एवं चमक मिलती है जो आपको कई branded shampoo और कंडीशनर condishner से भी नहीं मिल सकती।



इसका सीधा उदाहरण है जंगल में रहने वाले हमारे जानवर। क्या आपने कभी ग़ौर किया है? नहीं किया है तो ज़रूर करिए। कि कैसे एक बंदर, हिरण या कोई भी पशु, जिनके शरीर पर बाल होते हैं। बिना नहाए और शेम्पू लगाये उनके बाल कितने सॉफ्ट और शाइन (shine) करते हैं।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वे सभी इस प्रकृति माँ द्वारा दिये गए क़ुदरती एवं healthy fruits का सेवन करते हैं। जिनमें ना हि कोई केमिकल है और ना हि कोई मिलावट। बस इससे बड़ा कोई उदाहरण आपको नहीं मिल सकता। क्योंकि यही जीवन की सच्चाई है। जिसे हम समझ के भी समझ नहीं पाते।

So dear friends, आप ज़रूर फलों के सेवन को अपने दैनिक आहार में शामिल करके जादुई चमत्कार देखने को तैयार हो जाएँ।


7) त्वचा के लिए फ़ायदेमंद -
जब आप healthy खाना खाते हैं तो आपका रोम-रोम भी healthy हो जाता है। आप मौसमी फल खाकर अपनी skin को healthy और glowing बना सकते हैं। आप कितने भी branded cream और branded product क्यूँ न use कर लें। लेकिन जो प्राकृतिक (natural) होता है। उसकी चमक ख़ुद को सबसे अलग बनाती है। तभी तो आजकल सारा विश्व हेल्दी डाइट, वेगन डाइट और नैचुरल डाइट की ओर अग्रसर हो रहा है।

8) रोगमुक्त जीवन -
जब आप हेल्दी खाना खाते हैं तब आपकी पूरी life हेल्दी  और रोगमुक्त हो जाती है। क्योंकि कहा भी गया है कि 'स्वस्थ जीवन का आधार, स्वस्थ आहार व स्वस्थ जीवन शैली है।' 



Fruit खाने से आपकी पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। आपका रक्त संचार सुचारू रूप से चलायमान होता है। और जब आपकी ये basic requirements पूरी हो जाती हैं तो आपकी पूरी life ही स्वस्थ और फ़िट हो जाती है।


निष्कर्ष (Conclusion)

गर्मियों में अपने आपको डिहाइड्रेशन से बचाए रखने के लिए इन रसीले मौसमी फलों का सेवन बेहद ज़रूरी है। साथ ही अन्य समस्याएँ जैसे बदहज़मी, शुगर, अल्सर, पेट दर्द, सिर दर्द आदि को नियंत्रित रखने के लिए भी गर्मियों में इन फलों का सेवन करना फ़ायदेमंद साबित हो सकता है।

सेहत के प्रति जागरूकता के रूप में ये बदलाव ज़रूरी है। और ये बदलाव सम्पूर्ण मानव जाति के लिए एक वरदान सिद्ध होगा। तो आइये आयुर्वेद की ओर। अनाब शनाब आहार लेने से बेहतर है ऐसा हेल्दी आहार लें जिसमें मौसमी फ्रूट्स seasonal fruits विशेष रूप से शामिल हों।



वैसे तो फलों को खाने से कोई भी नुक़सान नहीं होता है। लेकिन यहाँ कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं। जिन्हें follow करके आप और भी healthy life जी सकते हैं।

1. फलों को अच्छी तरह धोकर खाएँ।
2. मौसमी फलों का ही सेवन करें।
3. फलों को सुबह के नाश्ते में ज़रूर शामिल करें।
4. ज़्यादा देर तक काटकर रखा हुआ फल न खाएँ।

उम्मीद है हमारा यह लेख "मौसमी फलों के फ़ायदे आपको ज़रूर पसंद आया होगा। seasonal fruits in hindi पढ़कर आपके मन में भी यही चल रहा होगा कि garmiyon me khane vale fruits सचमुच गर्मियों में सेहतमंद रहने के लिए बेहद लाभदायक साबित होते है।
-By Poonam

अन्य आर्टिकल्स भी पढ़े👇






एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ